नेपाल में लॉकडाउन के कारण रक्सौल में ठहरे लोगों को आपदा काल में रेलवे की तरफ से मदद

0
149
Share

नेपाल में लॉकडाउन लगने के कारण वहां फूलों का गुलदस्ता बनाकर बेचने वाले राजस्थानी कारीगरों का रोजगार ठप पड़ गया है। वे अपने प्रदेश लौटना चाहते हैं, लेकिन सुविधा न होने के कारण रक्सौल में ठहरे हैं। दूसरे राज्यों से फंसे ऐसे लोगों के GRP का मानवीय चेहरा सामने आया है। ऐसे लोगों को खाने की दिक्कत न हो, इसलिए GRP के मेस से उन्हें खाना पहुंचाया जा रहा है।

स्टेशन पर प्रतिदिन करीब 10 से 15 असहाय लोग ऐसे आ रहे हैं, जिनको खाना नहीं मिल रहा है। वैसे लोगों को GRP मेस में पुलिस पदाधिकारियों और जवानों के लिए बनने वाले खाने में से भी खाना भेजा जा रहा है। GRP के थानाध्यक्ष पंकज कुमार दास ने बताया कि हम शाम को एक बार मुआयना कर लेते हैं कि कितने लोगों को भोजन की जरूरत है। इसके बाद GRP के पदाधिकारी खुद भोजन लाकर उनको उपलब्ध करा देते हैं।

अब घर लौटने की मजबूरी
रविवार की रात में भी GRP के पदाधिकारी सत्येन्द्र कुमार सिंह के द्वारा राजस्थान के एक परिवार को भोजन दिया जा रहा था। परिवार के मुखिया मदन लाल जोकि राजस्थान के पाली जिला के सोजत रोड के निवासी हैं, ने बताया कि हम सभी नेपाल में फूल का गुलदस्ता बना कर बेचते थे, लेकिन नेपाल में लॉकडाउन लगने के बाद काम ठप हो गया। अब अपने घर वापस जाने का विकल्प बचा है। इसलिए हमलोग रक्सौल आ गए। अपने घर जाने के लिए ट्रेन नहीं रहने से स्टेशन परिसर में ही रह रहे हैं। यहां GRP हमलोगों को खाना खिला रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here