पटना के थाने में बाबा पर मुकदमा दर्ज करने के लिए IMA ने दिया आवेदन, 50 अलग-अलग थानों में केस दर्ज कराने की तैयारी

0
167
Share

योग गुरु बाबा रामदेव के खिलाफ बिहार में पहला आवेदन पटना के पत्रकार नगर थाने में दिया गया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। थानेदार का कहना है कि जांच के बाद मामला दर्ज किया जाएगा। दूसरी तरफ IMA बिहार के 50 अलग-अलग थानों में मुकदमा दर्ज कराने की तैयारी कर रहा है।

IMA से राज्य सेक्रेटरी ने दिया पहला आवेदन

IMA बिहार राज्य के सेक्रेटरी और सहज सर्जरी कंकड़बाग के डॉ. सुनील कुमार ने पत्रकार नगर थाना की पुलिस को दिए गए आवेदन में रामकृष्ण यादव उर्फ बाबा रामदेव, पिता राम निवास यादव पता-पतंजलि योगपीठ ट्रस्ट, महर्षि दयानन्द ग्राम, दिल्ली हाइवे, बहादरावाद के निकट, हरिद्वार के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की है। आवेदन में एपिडेमिक डिजीज एक्ट 1897 की धारा 3, बिहार एपिडेमिक डिजीज कोविड 19 ( रेगुलेशन ) 2020, डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 एवं IPC 1860 की धाराएं 124 ए 153 / 186 / 188 / 269 / 270 / 3361 4201 499 / 500 / 505 / 511 एवं कानून के अन्य प्रावधानों के अंतर्गत प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की है।

डॉक्टरों का मनोबल तोड़ने का काम किया गया

वर्तमान कोविड वैश्विक महामारी में बिहार भर की आधुनिक चिकित्सा पद्धति के सरकारी एवं गैर सरकारी चिकित्सकों ने कोविड-19 महामारी के विरुद्ध जागरुकता, रोकथाम, बीमारी की पहचान, इलाज, टीकाकरण में केन्द्र एवं राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार लगातार काम करते हुए कोविड-19 जैसी महामारी से हजारों लोगों को मौत के मुंह से बचाया है। इस दौरान हमने 151 से ज्यादा डॉक्टरों को खोया है। केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकारों ने आधुनिक चिकित्सा पद्धति एवं इसके विकास को बार-बार सम्मान करते हुए आभार जताया है।

कोरोना की लड़ाई में बाबा की वाणी से खतरा बढ़ा

IMA का मानना है कि देश जब कोरोना की दूसरी खतरनाक लहर से लड़ रहा, तब बाबा रामदेव व उनके अनाम भक्तों ने आधुनिक चिकित्सा विज्ञान के चिकित्सकों एवं चिकित्सक शहीदों की खिल्ली उड़ाते हुए हमारी आधुनिक चिकित्सा विज्ञान पद्धति के प्रति आम लोगों में भ्रम, अविश्वास पैदाकर गलत आरोप लगाया है। जिससे हमारे चिकित्सकों की भावनाएं आहत हुई हैं। उनके कारण बहुत बड़ी संख्या में कोविड मरीजों की मृत्यु हुई है तथा कोविड टीकाकरण अभियान को धक्का लगा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here