पटना जंक्शन पर TTE ने पेश की मानवता की मिसाल, खोई बच्ची को किराया, रास्ते का खर्च देकर घर भेजा

0
176
Share

TTE आम तौर पर टिकट चेक करते हैं और टिकट न होने पर जुर्माना वसूलते हैं। बहुत कम TTE ऐसे होते हैं, जो ड्यूटी से अलग हटकर मानवता की मिसाल पेश करते हैं। मंगलवार को पटना रेलवे स्टेशन पर टिकट चेकिंग के दरम्यान दो TTE शशि सिंह राजपूत और राजेश कुमार की निगाह एक महिला पर पड़ी, जिसके साथ एक 7 साल की बच्ची थी। जब दोनों टिकट परीक्षक ने जांच-पड़ताल की तो पता चला कि पुतुल कुमारी नाम की यह बच्ची 20 अप्रैल से आरा से लापता है।

अनजान महिला ने भी निभाया मानवता का धर्म

बच्ची को अपने पास रखी महिला ने बताया कि यह बच्ची उसकी नहीं है, बल्कि आरा की रहनेवाली है। महिला को यह बच्ची लगभग एक महीने पहले जहानाबाद में मिली थी, जिसे उसने कई दिनों तक अपने घर मे रखा, क्योंकि बच्ची अपना पूरा पता नहीं बता रही थी। पता जानने के बाद आज उसे उसके मां-पिता से मिलाने ले जा रही है।

TTE ने अपने रिश्तेदार को भी बच्ची के साथ भेजा

टिकट परीक्षक शशि सिंह ने उस महिला को अच्छी से समझा कर पूरा किराया और खर्च देकर अपने एक रिश्तेदार के माध्यम से उस बच्ची को उसके मां-पिता तक पहुंचवाने का काम किया। बच्ची अब पूरी तरह सुरक्षित अपने घर आरा के उजियार टोला पहुंच चुकी है। शशि सिंह राजपूत ने टाउन थाना आरा के प्रभारी को भी इसकी सूचना दे दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here