परिहार ब्लॉक में दो शौचालय, एक मे तालाबंद, दूसरा में कचड़ा का ढ़ेर

0
2249
Share

स्वच्छ भारत को लेकर प्रधानमंत्री से लेकर जिला के बड़े आला अधिकारियों ने कीर्तिमान स्थापित किया है। लेकिन यह बात हकीकत से कोसों दूर है।

हम आपको कहानी परिहार प्रखंड की बता रहे हैं। जहां राहगीरों के लिए कोई सार्वजनिक शौचालय की व्यवस्था नहीं है।

सामाजिक कार्यकर्ताओं की मांग पर परिहार के पूर्व में बीडिओ रहे निरंजन कुमार ने प्रखंड मुख्यालय में शौचालय का निर्माण कराया था।

और उन शौचालय का हाल खस्ता है। साफ सफाई के अभाव में एक शौचालय कचरा का ढेर बन चुका है। तो वहीं दूसरा शौचालय जिस पर ताला लटका है। ऐसे में परिहार ब्लॉक में आने जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। और इस बात को जानकर स्थानीय प्रशासन अनजान बना हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here