पूर्व केंद्रीय मंत्री का दावा-चिराग से बात कर अलग प्लेटफॉर्म बनाएंगे,RJD-JDU से मुसलमान-कुशवाहा तो BJP से अपर कास्ट नाराज

0
609
Share

पूर्व केंद्रीय मंत्री नागमणि बिहार में राजनीतिक स्तर पर एक अलग प्लेटफॉर्म बनाने की कवायद में जुटे हैं। इसके लिए वो लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के मुखिया चिराग पासवान से भी बात करने वाले हैं। पूर्व केंद्रीय मंत्री ने भास्कर से बातचीत में दावा है कि बिहार में मुसलमान और कुशवाहा राष्ट्रीय जनता दल (RJD) और जनता दल यूनाइटेड (JDU) से खफा हो गए हैं। जबकि, भारतीय जनता पार्टी (BJP) से अपर कास्ट वाले नाराज हैं।

इनका कहना है कि सीवान के पूर्व सांसद शाहबुद्दीन की मौत और उसके बाद RJD के व्यवहार से राज्य के मुसलमानों में गहरी नाराजगी है। अभी तक प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव उनके परिवार से मिले तक नहीं। जबकि, मो. शाहबुद्दीन उनके ही पार्टी के सांसद थे।

JDU में जाने की वजह से उपेंद्र कुशवाहा से है नाराजगी

पूर्व केंद्रीय मंत्री नागमणि आजकल किसी राजनीतिक पार्टी में नहीं है। पटना के जगदेव पथ स्थित अपने घर पर ही रह रहे हैं। बिहार में कुशवाहा समाज के युवाओं को एक ग्रुप में जोड़ने की कवायद में लगे हैं। यह काम विधानसभा स्तर पर चल रहा है। इनका कहना है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने अपनी पार्टी RLSP को JDU में विलय करके सही नहीं किया। उनके JDU में जाने से पूरे बिहार के कुशवाहा काफी नाराज हैं। इसलिए नागमणि कुशवाहा समाज के लोगों को एकजुट करने में लग गए हैं।

पारस ने चिराग के साथ सही नहीं किया

इस वक्त LJP में जो कुछ भी चल रहा है वो सही नहीं है। नागमणि का कहना है कि सांसद चाचा पशुपति कुमार पारस ने अपने भतीजे चिराग पासवान के साथ अच्छा नहीं किया। उन्होंने गद्दारी की है। इस टूट का असर बिहार में पासवान वोटर्स के ऊपर नहीं पड़ेगा। क्योंकि, पासवान वोटर्स चिराग के साथ हैं। जल्द ही चिराग पासवान से मुलाकात करेंगे। उनसे पूरे मामले पर बात कर साथ आने को कहेंगे। चिराग को अलग प्लेटफॉर्म पर लाने की कोशिश की जाएगी।

नवंबर में होगी नई पार्टी की घोषणा, गांधी मैदान में जुटेंगे कई नेता

सीवान के पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा को नागमणि अपने साथ लाने की काशिशों में जुटे हैं। 13 जून को उनसे मिलने के लिए सीवान भी गए थे। पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में पूर्व सांसद मो. शहाबुद्दीन के नाम पर एक शोक सभा आयोजित करने की तैयारी चल रही है। जिसमें मुसलमान और कुशवाहा को एक साथ लाने की कवायद होगी। इसके अलावा इसी साल नवंबर महीने में पटना के ही गांधी मैदान में कोयरी महाशक्ति प्रदर्शन के नाम पर एक रैली की भी तैयारी चल रही है।

इसके जरिए मो. शाहबुद्दीन के बेटे ओसामा के साथ ही पूर्व सांसद रंजन यादव, जहानाबाद के पूर्व सांसद अरुण कुमार, पूर्व विधायक मुन्ना शुक्ला और MLC टुन्ना पांडेय को एक मंच पर लाने का नागमणि दावा कर रहे हैं। उसी वक्त वो अपनी नई राजनीतिक पार्टी के गठन का ऐलान करेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here