पूर्व सांसद रंजीत रंजन ने कहा- 2 दिन में पप्पू यादव को रिहा करें, नहीं तो अनशन करूंगी, अस्पतालों का निरीक्षण जारी रहेगा

0
619
Share

जाप प्रमुख पप्पू यादव की पत्नी पूर्व सांसद रंजीत रंजन ने बिहार सरकार को दो दिनों का अल्टीमेटम दिया है। पप्पू यादव के पटना आवास पर प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि अगर दो दिनों में पप्पू यादव को रिहा नहीं किया गया तो वे अनशन करेंगी। पप्पू यादव को परेशान किया जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशों की धज्जियां उड़ाते हुए उनकी गिरफ्तारी की गई है। कानूनी तरीके से मधेपुरा में उन्हें मजिस्टे्ट द्वारा ही बेल दे देनी चाहिए थी।

‘अस्पतालों का निरीक्षण जारी रहेगा’

रंजीत रंजन ने कहा कि जब तक पप्पू यादव जेल में हैं, अस्पतालों का निरीक्षण होता रहेगा। जिन माफिया से मिलकर इंजेक्शन, दवाओं, बेड की कालाबाजारी हो रही है, उसको बेनकाब करते रहेंगे। पप्पू यादव के लीवर में 30 फीसदी इंफेक्शन है। उनके गाल ब्लेडर का ऑपरेशन हुआ है। डॉक्टर ने कहा है कि उन्हें रिस्क है। जेल से पॉजिटिव होकर अगर आए तो मैं किसी को नहीं छोड़ूंगी।

‘रूडी का नाम लेना भी पसंद नहीं’

पप्पू यादव ने सारण सांसद राजीव प्रताप रूडी के गांव जाकर वहां दर्जन भर एम्बुलेंस लावारिस पड़े होने का खुलासा किया था। उनकी गिरफ्तारी को इस घटना से भी जोड़कर देखा जा रहा है। अब रंजीत रंजन ने कहा है कि मैं रूडी का नाम भी लेना पसंद नहीं करती। राजनीति से उनका कोई संबंध नहीं है। कोई संघर्ष नहीं है। स्किल मिनिस्टर के नाते आपने ड्राइवरों को ट्रेनिंग नहीं दी। आपको क्यों इस मंत्रालय से हटाया गया?

पटना आने से पहले दी थी धमकी

रंजीत रंजन आज दोपहर को दिल्ली से पटना आई हैं। इससे पहले उन्होंने बुधवार को सोशल मीडिया पर पोस्ट कर सीधे CM आवास को निशाने पर लिया था। कहा कि पप्पू यादव की गिरफ्तारी एक साजिश के तहत की गई है। अब तक वह कोरोना निगेटिव थे, यदि कोरोना पॉजिटिव हुए तो वह सरकार की ईंट से ईंट बजा देंगी। रंजीत रंजन ने सोशल मीडिया पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को संबोधित करते हुए लिखा-

नीतीश जी, पप्पू जी कोरोना निगेटिव हैं, अगर वह पॉजिटिव हुए तो आपको, इस साजिश में शामिल चार लोगों एवं एम्बुलेंस चोरों को CM आवास से निकाल बीच चौराहे पर नहीं खड़ा किया तो मेरा नाम रंजीत रंजन नहीं।

रंजीत रंजन की धमकी का मतलब क्या

रंजीत रंजन कांग्रेस की सांसद रही हैं। कांग्रेस संगठन में उनकी अच्छी पकड़ मानी जाती है। रंजीत रंजन राहुल गांधी की कोर टीम की सदस्य भी हैं। लोकसभा के अंदर भी रंजीत रंजन के तीखे सवाल होते हैं। सत्तारूढ़ दल के मंत्रियों और सांसदों पर जमकर हमला बोलती थीं। सुपौल से लोकसभा चुनाव हारने के बाद रंजीत लगातार कांग्रेस संगठन के लिए काम कर रही हैं। फिलहाल दिल्ली में रहती हैं।

मंगलवार को हुई थी गिरफ्तारी

बिहार में पूर्व सांसद पप्पू यादव को पटना स्थित मंदिरी आवास से मंगलवार सुबह कोरोना गाइडलाइन तोड़ने के आरोप में पटना पुलिस ने गिरफ्तार किया। देर शाम मधेपुरा पुलिस ने 32 साल पुराने अपहरण के एक मामले में अपनी हिरासत में ले लिया और रात में ही पटना से मधेपुरा ले आई। मधेपुरा कोर्ट ने 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया। प्रभारी न्यायिक दंडाधिकारी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई की। उन्होंने पूर्व सांसद को रिमांड टू जेल का आदेश देते हुए न्यायिक हिरासत में वीरपुर (सुपौल) जेल भेजने को कहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here