मुखबिरी का आरोप लगा अपराधी की पत्नी ने की कई राउंड फायरिंग,7 महीने की प्रेग्नेंट महिला की मौत

0
411
Share

भागलपुर में सोमवार को बबरगंज थाना क्षेत्र के मुगलपुरा में अपराधियों ने कई राउंड गोलीबारी की। जेल में बंद अपराधी मो. इमत्याज की पत्नी जेबा खातून ने गुर्गों के साथ मिलकर गोलीबारी की। पुलिस की मुखबिरी करने के आरोप में मोहम्मद आरिफ के घर में घुसकर गोलीबारी हुई है। इसमें आरिफ की बड़ी बेटी काजल की गोली लगने से मौत हो गई। काजल 7 महीने की प्रेग्नेंट भी थी।

पीड़ित मोहम्मद आरिफ ने बताया, ‘मो. इमत्याज भागलपुर का कुख्यात है, जो जेल में बंद है। उसकी पत्नी जेबा खातून स्मैक, शराब और नशीले पदार्थ का धंधा करती है। मो. इमत्याज का भाई इंतसार भी अपराधिक प्रवृति का है, जिस वजह से उसके घर में हमेशा पुलिस छापेमारी करने के लिए जाती रहती है। मोहम्मद इमत्याज के गिरोह के बदमाश बादशाह और रहमत ने तीन दिन पहले मोहम्मद आरिफ के बड़े बेटे समीर को मोहल्ले में रास्ते में रोक लिया था। साथ ही धमकी देते हुए कहा था कि अपने पिता से कह देना कि वो पुलिस की मुखबिरी न करे, वरना पूरे परिवार को खत्म कर देंगे’।

सोमवार की सुबह हुई थी बहस

सोमवार को करीब 10-11 के बीच में आरिफ की पत्नी जेबा (अपराधी की पत्नी और आरिफ की पत्नी दोनों का नाम एक ही है ) ने बादशाह को आते हुए देखा तो अपने पति के साथ उसे रोका। फिर उससे पूछा कि तुमने मेरे बेटे को मोहल्ले में क्यों रोका? तुमको जो कुछ कहना है मुझसे कहो। बादशाह ने उससे कहा कि पुलिस की मुखबिरी करना छोड़ दो नहीं तो जिंदगी खत्म हो जाएगी। हालांकि, आरिफ ने उन्हें भरोसा दिलाया था कि वह जमीन खरीद -बिक्री का काम करता है, मुखबिरी नहीं करता है। इसी बात को लेकर दोनों में हल्की नोक-झोंक हुई थी।

घायल काजल की हुई मौत

विवाद के बाद आरिफ अपनी पत्नी के साथ घर आ गया। कुछ देर के बाद इमत्याज की पत्नी जेबा, इमत्याज का भाई इंतसार अपने कई गुर्गों के साथ आरिफ के घर पर चढ़कर गोलीबारी करने लगे। इस गोलीबारी में आरिफ की बड़ी बेटी काजल घायल हो गई। अपराधियों की ओर से करीब एक दर्जन राउंड फायरिंग की गई। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंच गई और घायल काजल को उठाकर मायागंज अस्पताल ले आई, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया |

क्या कहती है पुलिस

घटना के संबंध में भागलपुर एएसपी पूरण झा ने बताया कि दोनों की पुरानी रंजिश थी। इसी रंजिश में गोलीबारी की घटना हुई, जिसमें महिला की गोली लगने से मौत हो गई है। एएसपी ने बताया कि मुखबिरी क्या होती है? दोनों तरफ के लोग अपराधी ही हैं। इमत्याज और आरिफ के दामाद छोटू कुरैशी दोनों को पुलिस ने जेल भेजा है। फिलहाल पुलिस ने कुछ लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here