शिवहर में महागठबंधन में दल और उम्मीदवार तय नहीं एनडीए में भाजपा से रामादेवी या राणा रणधीर सिंह हो सकते हैं प्रत्याशी

0
415
Share

लोकसभा चुनाव को लेकर शिवहर सीट से महागठबंधन के उम्मीदवार के नाम का खुलासा नहीं अभी हुआ है महागठबंधन में इस सीट को लेकर एक अनार सौ बीमार वाली स्थिति बनती जा रही है राजद के पूर्व मंत्री रघुनाथ झा के बेटे अजीत झा और पूर्व सांसद आनंद मोहन की पत्नी लवली आनंद की दावेदारी है।

कांग्रेस की ओर से पूर्व केंद्रीय मंत्री रामदुलारी सिन्हा के बेटे मधुर इंदर सिंह और युवा नेता मोहम्मद असद के नाम की चर्चा है वही शरद यादव की पार्टी भी सीट पर अपना दावा जता रही है इधर एनडीए के भीतरिया सीट भाजपा में जाती दिख रही है भाजपा की रामादेवी यहां से सांसद है इनके अलावा पार्टी में राज्य सरकार में मंत्री राणा रणधीर सिंह के नाम की भी कयास लगाए जा रहे हैं।
शिवहर लोकसभा क्षेत्र में राजपूत मतदाताओं की बहुलता है, ब्राह्मण, मुस्लिम मतदाता भी थोक भाव में पिछले दो चुनावों से रामा देवी का यह कब्जा है 2014 और इनके पहले 2009 के चुनाव में भाजपा की टिकट पर रामादेवी ने जीत हासिल की 2014 के चुनाव में रामा देवी को 372506 वोट मिले दूसरे नंबर पर राजद के अनवारुल हक थे जिन्होंने 236267 वोट मिले तीसरे स्थान पर जदयू के शाहिद अली खान थे जिन्हें 79108 वोट मिले।
1996 के चुनाव में समता पार्टी की टिकट पर आनंद मोहन यहां से चुनाव जीत गए 2 साल बाद हुए 1998 के चुनाव में ऑल इंडिया जनता पार्टी के चुनाव चिन्ह पर आनंद मोहन दोबारा यहां से सांसद बने 1999 के चुनाव में अनवारुल हक और 2004 में राजद के सीताराम सिंह को जीत मिली।
पिछले चुनाव में राजद ने अनवारुल हक उम्मीदवार बनाया था जबकि जदयू ने पूर्व मंत्री शाहिद अली खान को मैदान में उतारा था इस बार शाहिद अली खान और अनवारुल हक दोनों ही इस दुनिया में नहीं है जबकि उनके पार्टी जेडीयू एनडीए की बड़ी पाटनर है लोकसभा सीट से पूर्व विदेश मंत्री हरि किशोर सिंह या रामदुलारी सिन्हा भी सांसद निर्वाचित हुई है पहले आम चुनाव में मुज़फ़्फ़रपुर नॉर्थईस्ट के नाम से यह इलाका जाना जाता था 1957 के दूसरे आम चुनाव में पुपरी नाम से लोकसभा की सीट बनी यहां से दिग्विजय नारायण से चुनाव जीते 1962 और 1967 के चुनाव में एसपी साहू यहां से सांसद बने 1971 के चुनाव में हरि किशोर सिंह को जीत हासिल हुई 1977 के आम चुनाव में ठाकुर गिरिजा नंद सिंह 1980 और 84 में रामदुलारी सिन्हा तथा 1989 और 91 में हरि किशोर सांसद निर्वाचित हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here