सड़क पर नहीं उतरे तेजस्वी यादव और तेज प्रताप यादव

0
156
Share

महंगाई के सवाल पर राष्ट्रीय जनता दल के दो दिवसीय प्रदर्शन के आयोजन में लालू परिवार का कोई भी सदस्य शामिल नहीं हुआ। पहले दिन यानी 18 जुलाई को लालू परिवार से कोई भी सड़क पर नहीं उतरा। वहीं, दूसरे दिन 19 जुलाई को नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव सिर्फ औपचारिकता निभाते नजर आए। दोनों भाई वीरचंद पटेल रोड स्थित पार्टी ऑफिस पहुंचे। महंगाई पर बयान दिया और बाहर सड़क की तरफ निकले। फिर बरामदे पर से ही कार्यकर्ताओं के जुलूस को रवाना कर दिया। कार्यकर्ताओं ने इसी को आंदोलन में भाग लेना मान लिया। नारे गूंजे- वो सरकार बदलनी है, जो सरकार निकम्मी है और बिहार का मुख्यमंत्री कैसा हो, तेजस्वी यादव जैसा हो।

संगठन पर मंत्रणा करने गए दिल्ली
कार्यकर्ताओं के जुलूस को रवाना करने के बाद तेजस्वी यादव दिल्ली जाने की तैयारी में लग गए। सोमवार दोपहर करीब डेढ़ बजे वे फ्लाइट से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। दूसरी तरफ तेज प्रताप यादव के पेट में दर्द शुरू हो गया। तेज प्रताप यादव को प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया। जानकारी है कि लालू प्रसाद और जगदानंद सिंह के साथ संगठन के मसले पर मंत्रणा करने के लिए उन्हें दिल्ली बुलाया गया है। जगदानंद सिंह ने पार्टी के अंदर काफी हद तक अनुशासन ला दिया है। वे चाहते हैं कि इसे और मजबूत किया जाए। लालू प्रसाद की इच्छानुसार जगदानंद सिंह यह सब कर रहे हैं।

रात से ही हड़बड़ी में थे !
कहा जा रहा है कि तेजस्वी यादव रात से ही हड़बड़ी में थे। देर रात वे महंगाई के सवाल पर होने वाले आंदोलन पर बोलने के लिए फेसबुक लाइव हुए तो कार्यक्रम की रूपरेखा बताते समय कह दिया कि -‘ लोग व्यापक बंद को सफल बनाएं’। बंद की कोई बात नहीं थी। इस बार दिल्ली की मीटिंग में तेजस्वी यादव को बड़ा पद दिए जाने की तैयारी है। लालू प्रसाद चाहते हैं कि जल्द से जल्द तेजस्वी पार्टी को संगठन के स्तर पर भी संभालें। अभी वे नेता प्रतिपक्ष हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here