हरियाणा में केन्द्र ने 500 बेड का अस्पताल चालू करवाया, बिहार में क्यों नहीं ?

0
188
Share

केन्द्र सरकार DRDO के जरिए कम आबादी और कम कोरोना मामलों के बावजूद हरियाणा में 500 बेड वाले दो कोविड समर्पित अस्पताल चालू करवा रही है। क्या बिहारियों की जान इतनी सस्ती है, जो NDA को 48 MP देने के बावजूद इस महामारी में केंद्र सरकार का यह आपराधिक सौतेलापन सहें? यह सवाल पूछा है नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने। तेजस्वी यादव ने केन्द्र के सौतेलेपन पर नीतीश कुमार को भी घेरा है। कहा कि कोरोना संकट में भी बिहार की केंद्र द्वारा की जा रही अनदेखी पर CM नीतीश कुमार क्यों मुंह में दही जमाए हुए हैं? नीतीश जी, अब तो आपकी बोलने की भी हैसियत नहीं बची? कहां है बिहार के दो-दो भाजपाई उपमुख्यमंत्री?

कहां हैं NDA के डरपोक सांसद

तेजस्वी यादव ने कहा है कि बिहार NDA के (39+9) 48 सांसद और 5 केंद्रीय मंत्री मिलकर भी बिहार के लिए DRDO से एक 500 बेड का कोविड समर्पित अस्पताल सुनिश्चित नहीं करवा सकते? धिक्कार है ऐसे डरपोक नाकारा सांसदो पर! तेजस्वी ने आगे सवाल किया कि रविशंकर प्रसाद, गिरिराज सिंह, अश्विनी चौबे, RK सिंह और नित्यानंद राय कहां हैं? बिहार से जीतने वाले NDA सांसदों को दूसरे प्रदेशों के सांसदों से सीख लेनी चाहिए।

याद करो लालू जी का UPA-1 का वह दौर
अपने पिता लालू प्रसाद के समय के आपदा की याद दिलाते हुए तेजस्वी ने कहा कि याद करो लालू जी का UPA-1 का वह दौर। बिहार में बाढ़-सुखाड़ जैसी किसी भी प्रकार की आपदा और संकट की घड़ी में तत्कालीन प्रधानमंत्री के बिहार दौरे के साथ-साथ विशेष सहायता और राहत कोष बिहार को मिलता था। कांग्रेस ने बिहार में मेडिकल इमरजेंसी लगाने की मांग मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here