5 साल पहले ही बना था, अचानक हुआ धराशाई; 7 सेकेंड पहले ही गुजरा था एक ट्रक, बड़ा हादसा टला

0
796
Share

जहानाबाद के मखदुमपुर मुख्य बाजार में बुधवार की दोपहर करीब 3:30 NH 83 पर बस स्टैंड के समीप 3 मंजिला एक मकान ताश के पत्तों की तरह भरभरा कर जमीन पर आ गिरा। गनीमत रही कि लॉकडाउन के कारण व्यस्त रहने वाले बाजार की इस जगह पर कोई आदमी मौजूद नहीं था। दरअसल, तीन मंजिला मकान में कोई रहता नहीं था। मकान के सबसे नीचे मकान मालिक की एक रेडिमेड की दुकान थी। लेकिन, घटना के वक्त मकान मालिक व दुकानदार पास की दुकान में बैठे थे। करीब 7 सेकेंड पहले मकान के पास से एक ट्रक गुजर गया और वह बाल-बाल बच गया। अचानक मकान के सड़क पर गिरने से NH 83 पर आवागमन लगभग 3 घंटे तक पूरी तरह बाधित रहा। मकान गिरने से पास में खड़ा बिजली का दो खंभा व तार क्षतिग्रस्त होकर जमीन पर आ गिरा और फॉल्ट से पूरे बाजार की बिजली भी गुल हो गई।

सुबह घटना होती तो जा सकती थी जानें

पड़ोसी धीरज कुमार ने बताया कि अचानक मकान जिस तरह से भरभराकर गिरा तो एकबारगी उन्हें लगा कि कहीं भूकंप तो नहीं आ गया। उन्होंने बताया कि देखते ही देखते मकान बीच सड़क पर गिर गया। एक अन्य चश्मदीद पिंटू कुमार ने बताया कि यदि यह घटना सुबह दस बजे के आसपास घटती तो दर्जनों लोगों की जान जा सकती थी क्योंकि सुबह में मकान के सामने ही सड़क के दोनों ओर सब्जी मंडी लगती है।

नाले के किनारे नियमों की अनदेखी कर महज पांच वर्ष पहले बना था मकान

महज पांच वर्ष पहले शहर के मुख्य नाले के किनारे बना यह मकान जिस तरह से ताश के पत्तों की तरह भरभरा गया, इससे शहर में बिना नक्शा पास कराए मकानों के खतरे की बात उभरकर सामने आई है। स्थानीय लोगों से मिली जानकारी के अनुसार मकान मालिक ने विवादित रहे जमीन पर फटाफट अंदाज में मकान खड़ा कर दिया था। आखिरकार पांच वर्ष पहले हड़बड़ी में मानकों की अनदेखी कर बना मकान धाराशाई हो गया। मकान के मालिक चिक्कू कुमार ने बताया कि उन्होंने यह दुकान वर्ष 2017 में बनवाया था। मकान के नीचे रेडीमेड कपड़े की दुकान चलती थी। वे पास के ही अपने एक अन्य मकान में रहते थे। उक्त मकान में भी उनकी एक कपड़ की दुकान चलती है। लॉकडाउन होने के कारण घटना के वक्त दुकान बंद थी।

घटना की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे अधिकारी, मलवे को हटवाया

मकान गिरने की सूचना पाकर अंचलाधिकारी राजीव रंजन, नगर कार्यपालक पदाधिकारी दिनेश पूरी, मखदुमपुर थानाध्यक्ष रंजय कुमार पूरे दल बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे। अधिकारियों ने JCB लगवा कर मलवा हटवाने का का युद्ध स्तर पर काम शुरू करवा दिया। आखिरकार लगभग 3 घंटे के बाद मलवा को हटने के बाद NH पर वाहनों का परिचालन शुरू हो सका। अंचलाधिकारी ने बताया कि पूरे मामले की जांच की जा रही है। मकान गिरने का अब तक स्पष्ट कारण पता नहीं चल पाया है।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here