6 वर्षों से वेतन के लिए भटक रही शिक्षिका

0
412
Share

परिहार सीतामढ़ी संवाद सहयोगी – प्राथमिक विद्यालय नरगां संस्कृत की शिक्षिका रेणु रवि का वेतन विगत 6 साल से लंबित है। भुगतान को लेकर वह अधिकारियों के कार्यालय का चक्कर लगाती रही, लेकिन आज तक उसका भुगतान नहीं हो सका। शिक्षिका ने एक बार फिर प्रशासन का दरवाजा खटखटाया है। जिला समाहर्ता को आवेदन दिया है। जिसमें बताया है कि बिना कारण वेतन नहीं मिलने के कारण पति का इलाज के अभाव में मौत हो गई।

आवेदन के अनुसार शिक्षिका का जुलाई 2015 से वेतन भुगतान लंबित है। विद्यालय के प्रधानाध्यापक द्वारा सेवा पुस्तिका संधारित एवं अद्यतन नहीं करने तथा वेतन निर्धारण भी पत्र पर हस्ताक्षर नहीं कारण के कारण वेतन रुका हुआ है। खास बात यह कि प्रधानाध्यापक अपने ही विभाग के अधिकारियों की बात नहीं मानते। बताया है कि बार-बार बनिए पदाधिकारी के आदेश के बावजूद प्रधानाध्यापक द्वारा न तो सेवा पुस्तिका अद्यतन व संधारित किया जा रहा है और ना ही वेतन निर्धारण प्रपत्र पर हस्ताक्षर किया जा रहा है।

बता दें कि शिक्षिका ने 20 जुलाई को मुख्यमंत्री के जनता के दरबार में गुहार लगाने के लिए पंजीकरण कराया था। लेकिन मुख्यमंत्री से मिलने से पहले ही 25 जुलाई को शिक्षिका के पति की मौत हो गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here