अमित शाह के कॉल के बाद VIP अध्यक्ष चुनाव में उतरने को हुए तैयार, 18 नहीं 41 माह वाली सीट लेंगे

0
89
Share

बिहार विधान परिषद् की दो सीटों पर चुनाव के लिए 18 जनवरी को नामांकन का अंतिम दिन है। भाजपा ने अपने खाते की इन दोनों सीटों में से एक के लिए राष्ट्रीय प्रवक्ता शाहनवाज हुसैन का नाम तय कर दूसरी सीट VIP अध्यक्ष और मंत्री मुकेश सहनी के लिए छोड़ दी थी। पहले तो सहनी तैयार नही थे और वे राज्यपाल कोटे से जाना चाह रहे थे, लेकिन भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह के फोन आने के बाद वे तैयार हो गए। यह भी साफ हो गया कि मुकेश सहनी, सुशील मोदी वाली खाली सीट पर जाएंगे। यह सीट 41 माह के लिए खाली हो रही है। सहनी ने सोशल मीडिया पर कहा है कि 18 जनवरी को वे नामांकन करेंगे। वीआईपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सह प्रवक्ता राजीव मिश्रा ने बताया कि सहनी, सुशील मोदी के राज्यसभा जाने के बाद खाली हुई सीट पर विधान परिषद् जाएंगे।

41 महीने वाली सीट के लिए हरी झंडी

विधान परिषद् की जिन दो सीटों पर चुनाव है, उनमें एक का कार्यकाल 18 महीने है और दूसरे का 41 महीने। VIP ने जब यह कह दिया कि सहनी को 41 महीने वाली सीट के लिए हरी झंडी मिल गई है तो दूसरी सीट शाहनवाज हुसैन के लिए बचती है।

MLC की दोनों सीटों पर NDA की जीत तय

इन दोनों सीटों पर विपक्ष की ओर से अबतक उम्मीदवार नहीं दिया गया है और दिए जाने की उम्मीद भी बहुत कम है। कारण यह कि दोनों सीटों पर वोटिंग अलग-अलग होनी है और जीत उसी की होगी, जिसके पास विधानसभा का बहुमत है। NDA के पास फिलहाल अपने ही 125 विधायक हैं, जो बहुमत के आंकड़े 122 से तीन ज्यादा हैं। दूसरी तरफ विपक्ष के पास 110 विधायक हैं। असद्दुदीन ओवैसी की पार्टी AIMIM के 5 के अलावा बसपा, निर्दलीय और लोजपा के एक-एक विधायक हैं।

सुशील मोदी और विनोद नारायण की खाली सीटों पर चुनाव

बिहार विधान परिषद् की दो सीटें खाली हुई हैं। एक सीट विनोद नारायण झा के विधान सभा चुनाव जीतने से खाली हुई है। इस सीट पर समय 18 माह (21 जुलाई 2022 तक) बच रहा है। दूसरी सीट सुशील कुमार मोदी के राज्यसभा जाने के बाद खाली हुई है। इसमें 41 महीने (6 मई 2024 तक) का समय बच रहा है। मुकेश सहनी पर भाजपा दबाव बनाती रही कि वह विनोद नारायण झा वाली सीट से विधान परिषद् जाएं, लेकिन सहनी राजी नहीं हुए। हालांकि उन्हें 72 महीने, यानी 6 साल वाली सीट भी नहीं मिली। उन्हें 41 माह वाली सीट दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here