बिहटा : 32 घंटे बिजली गुल रही तो लोगों ने जेई और दो ऑपरेटरों को पीटा

Share

बिहटा. बुधवार को आई आंधी के बाद से 32 घंटे तक ग्रामीण फीडर से बिजली की आपूर्ति ठप रहने से परेशान विशंभरपुर व विष्णुपुरा गांव के लोगों ने गुरुवार की देर रात एयरफोर्स पावर सब स्टेशन, बिहटा में कनीय अभियंता मो महजुल अशरफ पर जानलेवा हमला कर दिया। दो ऑपरेटरों हेमंत कुमार व बिरजू कुमार को भी पीटा।

इतना ही नहीं जबरन उस पावर स्टेशन से सारे फीडरों की आपूर्ति को बाधित करा दिया। इससे वायुसेना सहित सारी फैक्ट्रियां व अन्य गांव अंंधेरे में डूब गए। पुलिस के पहुंचने पर हंगामा करने वाले लोग भाग निकले। पुलिस ने घायल कनीय अभियंता मो महजुल अशरफ को तत्काल इलाज के लिए रेफरल अस्पताल में भर्ती कराया, जहां से प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें पटना रेफर किया गया है। बिहटा थाने में इस संबंध में कनीय अभियंता मो महजुल अशरफ की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है, जिसमें अशोक हिंदुस्तानी सहित 10 अज्ञात लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।

उधर पुलिस ने चार घंटे बाद लोगों को समझाकर आपूर्ति चालू कराई। साथ ही पुलिस ने अधिकारियों से कहा कि विशंभरपुर व विष्णुपुरा गांव के लोगों की आपूर्ति भी जल्द से जल्द बहाल करें। कई कर्मियों को बुलाकर कनीय अभियंता उस काम को करने में लगे थे, लेकिन जब तीन बजे रात तक फॉल्ट नहीं मिला तो विष्णुपुरा गांव के लोग आक्रोशित हो गए। उनलोगों ने मौके पर मौजूद कनीय अभियंता पर हमला कर दिया। साथ ही एक बार भी सारे फीडर का आपूर्ति जबरन बंद करा दी। कनीय अभियंता के साथ हुई इस घटना की सूचना पर शुक्रवार की सुबह अधीक्षण अभियंता व कार्यपालक अभियंता मौके पर पहुंचे तथा कहा कि इस प्रकार के हमले को हम किसी प्रकार बर्दाश्त नही करेंगे।

अधीक्षण अभियंता ने बिहटा पुलिस से इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग की है। थानाध्यक्ष कन्हैया सिंह ने बताया कि पुलिस ने काफी समझाकर लोगों को वहां से हटाया था। काम अधिकारी कर ही रहे थे। ऐसे में उन पर हमला करना गलत है। कानून हाथ में लेने वालों से पुलिस सख्ती से निबटेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *