गया : मारा गया कुख्यात प्रद्दुम्न शर्मा का राइट हैंड लालदास मोची

0
328
Share

गया. बाराचट्टी-चौपारण (झारखंड) सीमा क्षेत्र के भदेल जंगल में हुई मुठभेड़ में एसटीएफ ने एक हार्डकोर माओवादी को मार गिराया। मृत नक्सली का शव पुलिस ने बरामद कर लिया है। वहीं मुठभेड़ में तीन अन्य माओवादियों के घायल होने की सूचना है। मारा गया कुख्यात नक्सली लालदास मोची माओवादियों के शीर्षस्थ लीडर प्रदुमन शर्मा का राइट हैंड बताया जाता है। यह पटना के पालीगंज, नौबतपुर, मसोढ़ी, जक्कनपुर, किंजर, दुल्हिन बाजार, सकुराबाद आदि थाना क्षेत्र के कई वारदातों में शामिल रहा है। कार्रवाई के बाद चले सर्च अभियान में पुलिस ने एक इंसास राइफल, बड़े पैमाने पर कारतूस और नक्सली साहित्य बरामद किया है और दस संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है। सभी से पूछताछ की जा रही है।

गुप्त सूचना पर की गई थी घेराबंदी, दस हिरासत में
पुलिस सोर्स के अनुसार गुप्त सूचना मिली कि माओवादियों के शीर्षस्थ लीडर प्रदुमन शर्मा हथियारबंद दस्ता के साथ आया हुआ है। इसके बाद पुलिस ने घेराबंदी की, लेकिन घेराबंदी होते देख नक्सलियों ने गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद एसटीएफ के जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की, जिसमें पटना के भगवानपुर थाना क्षेत्र के दनारा निवासी नक्सली लालदास मोची उर्फ रविदास मारा गया। वहीं एसटीएफ ने दस संदिग्ध नक्सलियों को हिरासत में लिया।

पूरे अनुमंडल क्षेत्र में अलर्टघोषित
मुठभेड़ में एक माओवादी के मारे जाने और स्वतंत्रता दिवस को देखते हुए पूरे अनुमंडल क्षेत्र को अलर्ट पर रखा गया है। पुलिस के वरीय अधिकारियों ने सभी थाना के पुलिस अधिकारियों को अलर्ट रहने का कहा है। सीमा क्षेत्र व माओवादी प्रभाव वाले इलाके में चौकसी बढ़ा दी गई है, गश्त तेज है। बता दें कि 25 जुलाई को गया-औरंगाबाद सीमा के जंगल में मुठभेड़ हुई थी, जिसमें तीन माओवादी मारे गए थे। कई हथियार भी बरामद हुआ था। इसलिए पुलिस को उम्मीद है कि लगातार असफलता से बौखलाए वे किसी हद तक जाने की कोश कर सकते हैं। यहीं कारण है कि अनुमंडल के सभी थाना को अलर्ट रहने का निर्देश जारी किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here