विकास से कोसों दूर है एकडण्डी का महादलित बस्ती

0
160
Share

परिहार | मुख्यालय से महज एक किलोमीटर की दूरी पर बसा एकडंडी गांव का महादलित बस्ती विकास से पूरी तरह अनजान है। पंद्रह सौ आबादी वाला इस बस्ती में नीतीश कुमार की बिजली अब तक नहीं पहुंची है, सड़कों का हाल तो पूछिए ही नहीं बरसात के समय कीचड़ में रहने को विवश है यहां के लोग,नलजल के दौर में भी दो सरकारी चापाकल के सहारे पूरी आबादी पानी पीने को मजबूर है। शुद्ध पानी ना मिलने की वजह से यहां के लोग तरह-तरह के बीमारी के शिकार हो रहे हैं और कई लोग और समय काल के गाल में समा चुके हैं।

नल जल के नाम पर महज पाइप में टोटी लगा दिया गया है लेकिन 6 महीना से उसमें अब तक पानी नहीं आया। जिला पार्षद के कोष से वर्षों पहले सामुदायिक भवन का निर्माण कराया जा रहा था लेकिन वह भी आधा अधूरा छोड़ चलते बने जो अभी तक आधा अधूरा ही है। महेंद्र माझी ने कहा कि हर बार कोई न कोई नेता आकर आश्वासन दे जाता है और चुनाव खत्म होते ही सब भूल जाते हैं।

विद्युत अभियंता से बिजली ना होने के बारे में जानकारी लेने हेतु दूरभाष पर संपर्क किया गया घंटी बजी लेकिन फोन नहीं उठा सके। वार्ड सदस्य बिल्टू माझी ने कहा कि जो पैसा खाता में आया था उससे वार्ड के दूसरे हिस्से में नाली निर्माण और सड़क निर्माण कराया गया है। खाता में पैसा आते ही इस बस्ती में सड़क निर्माण कराया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here