गया : सिपाही भर्ती के नाम पर रैकेट चलाने वाले दो शातिर धराए, कई अभ्यर्थियों के डॉक्युमेंट बरामद

Share

गया. सिपाही भर्ती परीक्षा में नौकरी दिलाने के नाम पर रैकेट चलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है। मेडिकल पुलिस की कार्रवाई में पुलिस ने इस तरह के रैकेट चलाने वाले दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पकड़ाए शातिरों में पिन्टू कुमार पिता रामाकांत पासवान बोधगया थाना के धरहरा निवासी और प्रभाकर आनंद उर्फ नवलेश जहानाबाद जिले के मखदुमपुर थाना अंतर्गत मदारीचक का निवासी है। दोनों से मगध मेडिकल थाना की पुलिस ने घंटों पूछताछ की।

इनकी निशानदेही पर कई स्थानों पर छापेमारी भी की गई। पुलिस को सूचना मिली थी, सिपाही भर्ती के नाम पर रैकेट चलाने वाले गया में सक्रिय हैं। मिले इनपुट के आधार पर मेडिकल पुलिस ने थाना क्षेत्र के कलेर में छापेमारी की। इस दौरान इन दोनों को एक ठिकाने से गिरफ्तार कर लिया गया।सिपाही भर्ती का एडमिट कार्ड और ऑरिजनल शैक्षणिक डॉक्युमेंट मिले: पुलिस की छापेमारी में विभिन्न सामग्रियों की बरामदगी की गई है। बरामद सामग्री में सिपाही भर्ती के कई अभ्यर्थियों का एडमिट कार्ड मिले हैं।

वहीं, ऑरिजनल प्रमाण पत्र भी बरामद की गई है। ऑरिजनल डॉक्युमेंट के पीछे इनकी मंशा थी, कि सिपाही में नौकरी लग जाने पर डिमांड की रखी गई शर्त को पूरा नहीं करने तक वापस नहीं दिया जाना था। ऑरिजनल डॉक्युमेंट की बरामदगी के बाद पुलिस का शक गहरा हुआ है। वहीं मोटी नकदी की राशि निश्चित कर इस तरह का गोरखधंधा इनके द्वारा संचालित किया जा रहा था। बता दें कि 12 जनवरी रविवार को ही सिपाही भर्ती की परीक्षा संपन्न हुई है। रविवार को ही दोनों की गिरफ्तारी पुलिस ने की।

पुलिस की छानबीन में सामने आया है, कि सिपाही की नौकरी देने के नाम पर ये सक्रिय थे। इसके बीच इन्होंने कई से रुपए ऐंठे थे। सिपाही में नौकरी के नाम पर मोटी रकम की उगाही की बात आ रही है, किन्तु पुलिस का कहना है कि नकदी की बरामदगी फिलहाल नहीं हो पाई है। सिपाही परीक्षा को लेकर दोनों एक-दूसरे के काफी टच में थे। कई अभ्यर्थियों को इन्होंने झांसे में ले रखा था। वैसे यह संभावना है, कि जांच के दौरान बड़े रैकेट का खुलासा भी संभव हो सकता है।

सिपाही भर्ती में गड़बड़ी की आशंका के बीच इस रैकेट के तार कई जिलों से जुड़े पाए गए हैं। इस मामले की एफआईआर मेडिकल पुलिस के बयान पर दर्ज की गई है। केस दर्ज कर दोनों को जेल भेज दिया गया। वहीं निशानदेही के आधार पर कार्रवाई को आगे बढ़ाया जा रहा था। वैसे हालिया दिनों मगध मेडिकल थाना के कलेर में सिपाही भर्ती परीक्षा में गड़बड़ी फैलाने वालों के संबंध में पुलिस को सूचना मिल रही थी। बीते दिन ही कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया था। पुलिस ने बताया है, कि उक्त हिरासत में लिए गए लोगों के खिलाफ कोई ठोस साक्ष्य नहीं मिल पाया। उनसे पूछताछ की गई थी।

सिपाही की नौकरी देने के नाम पर जालसाजी करने और रुपए ऐंठने वाले दो शातिरों की गिरफ्तारी की गई है। इनके पास से सिपाही भर्ती परीक्षा के अभ्यर्थी का एडमिट कार्ड और ऑरिजनल डॉक्युमेंट मिले हैं। पकड़ाए लोगों में एक जहानाबाद तो दूसरा बोधगया का रहने वाला है। दोनों को जेल भेज दिया गया।- फहीम आजाद खान, थानाध्यक्ष मगध मेडिकल थाना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *