भाई की हत्या कर सो गई, जज बोले- साक्ष्य फांसी के लायक हैं, महिला हो, इसलिए उम्रकैद दे रहा हूं

Share

भागलपुर. सुल्तानगंज के नारायणपुर में 9 माह पहले इकलौते नाबालिग भाई नीतीश कुमार की हत्या करने वाली नीलम कुमारी को अदालत ने मंगलवार को उम्रकैद की सजा सुनाई। एडीजे-8 महेश प्रसाद सिंह की कोर्ट ने कहा, साक्ष्य व गवाहों के बयान तो फांसी की सजा देने के लायक हैं, लेकिन मुजरिम महिला है, इसलिए उम्रकैद की सजा दी जा रही है।

भाई की बेरहमी से हत्या के बाद मुजरिम ने खाना खाया और आराम से सोने चली गई। यह क्रूर व्यवहार का परिचायक है। मामले में सरकार की ओर से एपीपी जयकरण गुप्ता ने बहस की। नीलम ने पुलिस से कहा था कि सौतेली दादी ने उसे जलेबी खिला दी थी। उसके बाद से परेशान रहने लगी थी। घर में भाई को अकेले सोते देख हत्या कर दी। यह बात किसी के गले नहीं उतरी।

नारायणपुर पूरब टोला में 20 मई, 2019 की रात रामनिवास सिंह के इकलौते पुत्र नीतीश कुमार (16) की घर में सोये हालत में सिर पर खंती मारकर हत्या की गई थी। घटना के दिन रामनिवास पत्नी किरण के साथ अपने ससुराल किरणपुर गए थे। घर में बड़ी बेटी नीलम, छोटी बेटी नेहा और नीतीश था। घटना की रात गांव के स्कूल में रामलीला हो रही थी। रात 8:30 बजे नीतीश व 9:30 बजे नेहा चाची संग रामलीला गई थी। नीलम घर में अकेली थी। इसी दौरान नीतीश घर आया और कमरे में सो गया। रात 11 बजे नींद आने पर किरण ने भाई के सिर पर खंती से हमलाकर हत्या कर दी।

खंती और कपड़े में लगे खून को धो दिया था
नीलम खंती और कपड़े में लगे खून धोकर सोने चली गई। थोड़ी देर बाद घर में ताला लगाकर रामलीला देखने चली गई। रामलीला खत्म होने के बाद उसने साथ गई महिलाओं से कहा, मोबाइल व घर की चाबी खो गई है। नीलम और नेहा घर आई तो नीतीश को न देख खोजा, लेकिन पता नहीं चला। कमरे का ताला तोड़ा तो बिस्तर पर नीतीश मृत मिला। सूचना पर रात में ही मां-पिता लौटे। अज्ञात पर केस किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *