Home Blog

तख्तश्री हरिमंदिर साहिब-बाललीला गुरुद्वारा में बनेगा आईसोलेशन वार्ड, डीएम ने साफ-सफाई

0

पटना. पटना जिले में काेराेना पॉजिटिव का केस पिछले 150 घंटे में नहीं मिला है। लेकिन, जिला प्रशासन अलर्ट पर है। शुक्रवार काे डीएम कुमार रवि ने पटना सिटी इलाके में क्वारैंटाइन सेंटर बनाने के लिए दाैरा किया। इस दाैरान तख्तश्री हरिमंदिर साहिब, बाललीला गुरुद्वारा के साथ स्थानीय सिटी होटल का भ्रमण कर स्थिति का जायजा लिया।

डीएम ने कहा कि पटना जिले में कम्युनिटी ट्रांसफर का कोई केस नहीं है। सभी केस का चिह्नित हैं। इसकी मॉनिटरिंग लगातार हाे रही है। एहतियातन के ताैर प्रशासन पूरी तरह से अलर्ट पर है। किसी तरह की विषम परिस्थिति उत्पन्न हाेने पर मरीजाें काे तत्काल क्वारेंटाइन सेंटर में रखने की जरूरत हाेगी। इसके लिए पटना शहर से लेकर सभी अनुमंडल अाैर प्रखंड स्तर पर क्वारैंटाइन सेंटर स्थापित करने के लिए सरकारी भवन, रेस्ट हाउस, अस्पताल, स्कूल, पंचायत भवन, हाेटल अादि काे चिह्नित किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि पटना सिटी में तख्तश्री हरिमंदिर साहिब अाैर बाल लीला गुरुद्वारा काे क्वारैंटाइन सेंटर सह आइसोलेशन वार्ड बनाने के लिए चिह्नित किया गया है। इसके अलावा हाेटल अाैर रेस्ट हाउसों का निरीक्षण किया गया है। अनुमंडल पदाधिकारी काे हाेटल, रेस्ट हाउस के साथ सरकारी भवनाें में उपलब्ध कमराें अाैर उसके साथ संबद्ध शाैचालय, साफ-सफाई, पेयजल की उपलब्धता की सूची तैयार करने का निर्देश दिया गया है।

भाेजन कर गुणवत्ता की जांच की
शहर में 15 आपदा राहत केंद्र बनाए गए हैं। केंद्रों पर 324 व्यक्ति वर्तमान में रह रहे हैं। शुक्रवार काे राजकीय उच्च विद्यालय पटना सिटी स्थित आपदा राहत केंद्र के निरीक्षण के दाैरान डीएम ने एसएसपी के साथ भाेजन किया। उन्होंने कहा कि मजदूराें, गरीबाें, निराश्रित लाेगाें के लिए बननेवाले भाेजन की गुणवत्ता की जांच करने के लिए पदाधिकारियों काे निर्देश दिया गया है।

बिहार सरकार का बड़ा फैसला,22 मार्च के बाद बाहर से लौटे 1.80 लाख प्रवासियों की फिर होगी स्क्रीनिंग

0

पटना. बिहार सरकार ने 22 मार्च के बाद दूसरे राज्यों से बिहार आए 1 लाख 80 हजार बिहारियों की फिर से स्क्रीनिंग कराने का फैसला किया है। दरअसल, सरकार ऐसी किसी भी गुंजाइश को पूरी तरह खत्म कर देना चाहती है,जो कोरोनावायरस को, ‘कम्युनिटी इंफेक्शन’तक विस्तारित करे। अभी बिहार में ऐसी नौबत बिल्कुल नहीं है। फिर भी, सरकार ने ऐहतियातन दोबारा स्क्रीनिंग की बात तय की है।

मुख्य सचिव दीपक कुमार ने कहा कि शुरुआत शनिवार से होगी। सबसे पहले मुंबई से आए लोगों की जांच की जाएगी। इसलिए कि कोरोना को लेकर वह क्षेत्र हाई रिस्क वाला माना गया है। इसके बाद केरल, तमिलनाडु तथा दिल्ली से आए लोगों की स्क्रीनिंग होगी। यह काम 6 दिनों में पूरा कर लिया जाएगा। शुक्रवार की देर शाम मुख्य सचिव ने सभी जिलों के डीएम के साथ दोबारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की। उनको बाहर से आए बिहारियों को दोबारा स्क्रीनिंग कराने के बारे में व्यापक दिशा निर्देश दिया।

3200 क्वारैंटाइन सेंटरों में हैं दूसरे राज्यों से आए 27 हजार लोग
राज्य के 3200 क्वारैंटाइन सेंटर, जो खासकर स्कूलों में हैं, में शुक्रवार को 27 हजार लोग थे। इन सभी को 14 दिनों तक के लिए रखा गया है। इन पर निगरानी रखी जा रही है। जरूरत पड़ने पर इनको आइसोलेशन वार्ड में डाला जाएगा। गुरुवार को यह संख्या 25 हजार थी। यहां उनके रहने, खाने, प्रारंभिक इलाज का प्रबंध है। ध्यान रहे कि बीते 28 मार्च को लॉकडाउन के दौरान खासकर दिल्ली से बड़ी संख्या में बिहारियों को उनके घरों के लिए रवाना कर दिया गया। जैसे-तैसे ये पहुंचे। सरकार ने इन्हें सीमावर्ती जिलों में रोका। राहत कैंप बनाए गए। यहां प्रारंभिक जांच के बाद इनको इनके गांव के पास के क्वारेंटाइन सेंटरों में पहुंचाए जाने की प्रक्रिया हो रही है।

439 और संदिग्ध सर्विलांस पर
शुक्रवार को कोरोना से संक्रमित संदिग्धों की संख्या में 439 का इजाफा हुआ। 6681 संदिग्ध सर्विलांस पर हैं। गुरुवार को यह संख्या 6242 थी। संदिग्धों की सर्वाधिक संख्या सीवान में है। यहां 3105 लोग सर्विलांस पर हैं। पूर्वी चंपारण में संदिग्धों की संख्या 213 से बढ़कर 269 और गोपालगंज में 510 से बढ़कर 705 हो गई।

सीवान और गया में दो और पॉजिटिव मिले,राज्य में संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 31

0

पटना. राज्य में कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मिलने का सिलसिला जारी है। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार ने बताया कि शुक्रवार को सीवान और गया के दो और संदिग्ध की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है। सीवान का 35 वर्षीय पुरुष 21 मार्च को बहरीन से लौटा था।

सीवान में पॉजिटिव की संख्या 6 और राज्य में 31 हो गई है। गुरुवार को 5 संदिग्धों की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली थी जिसमें से दो गोपालगंज, एक सारण और दो गया के हैं। गया की दो महिलाओं की कड़ी मुंगेर के मृतक से जुड़ी है। उधर, गया की एक पॉजिटिव महिला का पति भी पॉजिटिव पाया गया है। पहले राउंड की जांच में पति की रिपोर्ट निगेटिव आई थी। यह मरीज 37 साल का है जो 21 को दुबई से गया लौटा था।

बिहार की यह पहली मरीज जिसकी रिपोर्ट पहले निगेटिव आई और फिर पॉजिटिव

शरणम अस्पताल की उस नर्स की कोरोना रिपोर्ट है जिसने 20 मार्च को मुंगेर के युवक का बीपी नापा था जो एम्स जाने से पहले यहां पहुंचा था। 20 साल की बैरिया की रहने वाली यह नर्स 28 मार्च से एनएमसीएच में भर्ती थी। उसकी तीसरी रिपोर्ट दो दिन पहले निगेटिव आई थी। शुक्रवार को चौथी रिपोर्ट भी निगेटिव आ गई। उसे कोरोना वार्ड से शिफ्ट कर अॉब्जर्वेशन वार्ड में रखा गया है। मुंगेर चेन की यह पहली मरीज है, जिसने जानलेवा वायरस से जंग जीत ली है। शनिवार काे डिस्चार्ज होगी। एनएमसीएच के अधीक्षक ने बताया कि उसकी दोनों रिपोर्ट निगेटिव आई हैं। मुंगेर के युवक की मौत 21 को एम्स में हो गई थी। 22 को उसके काेरोना की रिपोर्ट जब पॉजिटिव आई तो नर्स समेत 12 स्टाफ का सैंपल 25 को लिया गया। रिपोर्ट निगेटिव आई। जब वार्ड ब्वॉय की रिपोर्ट 27 को पॉजिटिव आ गई तो फिर से इन 12 समेत शरणम अस्पताल के 44 लाेगाें का सैंपल लिया गया। 28 को जब रिपोर्ट आई तो इसमें नर्स पॉजिटिव आ गई। फिर उसे एनएमसीएच में भर्ती करा दिया गया।

PM की अपील पर तेजप्रताप ने कहा लालटेन भी जला सकते हैं,सुशील मोदी ने कहा चला गया जमाना

0

पटना. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को लोगों से अंधकारमय कोरोना को हराने के लिए 5 अप्रैल रात 9 बजे 9 मिनट घर की लाइटें बंद कर मोमबत्ती, टॉर्च, दीये या मोबाइल की फ्लैश लाइट जलाने की अपील की। राजद नेता तेजप्रताप यादव ने प्रधानमंत्री की अपील का समर्थन किया साथ ही ट्वीट कर लिखा कि वैसे आप लालटेन भी जला सकते हैं।

<blockquote class=”twitter-tweet”><p lang=”hi” dir=”ltr”>वैसे आप लालटेन भी जला सकते हैं!<a href=”https://twitter.com/hashtag/9baje9minute?src=hash&amp;ref_src=twsrc%5Etfw”>#9baje9minute</a></p>&mdash; Tej Pratap Yadav (@TejYadav14) <a href=”https://twitter.com/TejYadav14/status/1245954970043613185?ref_src=twsrc%5Etfw”>April 3, 2020</a></blockquote> <script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने ट्वीट कर तेजप्रताप को जवाब दिया। उन्होंने लिखा कि अब लालटेन का जमाना चला गया। गांव में भी घर-घर बिजली पहुंच गयी है। दीया, मोमबत्ती हिंदू, ईसाई पूजा के लिए घर में रखते हैं। मोबाइल तो सबके पास है। इसलिए प्रधानमंत्री ने लालटेन का जिक्र नहीं किया। समझे बबुआ?

<blockquote class=”twitter-tweet”><p lang=”hi” dir=”ltr”>अब ललटेन का ज़माना चला गया ।गाँव में भी घर घर बिजली पहुँच गयी है ।दीया ,मोमबत्ती हिंदू ,ईसाई पूजा के लिए घर में रखते हैं।मोबाइल तो सबके पास है।इसलिए PM ने लालटेन का ज़िक्र नहीं किया ।समझे बबुआ ?</p>&mdash; Sushil Kumar Modi (@SushilModi) <a href=”https://twitter.com/SushilModi/status/1245982743613165568?ref_src=twsrc%5Etfw”>April 3, 2020</a></blockquote> <script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

तेजप्रताप ने ट्वीट कर सुशील मोदी को जवाब दिया कि हल्की सी हवा में भी लालटेन को देखकर मोमबत्ती अंधकार मिटाने का कार्य बंद कर देती है। बल्कि गहनतम अंधकार में भी टिमटिमाती हुई लालटेन भूले-भटके राहगीरों का मार्गदर्शन कराती आई है। समझे चच्चा?

<blockquote class=”twitter-tweet”><p lang=”hi” dir=”ltr”>हल्की सी हवा में भी लालटेन को देखकर मोमबत्ती अन्धकार मिटाने का कार्य बन्द कर देती है। बल्कि गहनतम अन्धकार में भी टिमटिमाती हुई लालटेन भुले-भटके राहगीरों का मार्गदर्शन कराती आई है।<br>समझे चच्चा ?? <a href=”https://t.co/CvrR1Qst7S”>https://t.co/CvrR1Qst7S</a></p>&mdash; Tej Pratap Yadav (@TejYadav14) <a href=”https://twitter.com/TejYadav14/status/1246012635750871043?ref_src=twsrc%5Etfw”>April 3, 2020</a></blockquote> <script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

1.80 प्रवासियों की स्क्रीनिंग शुरू; 3200 क्वारैंटाइन सेंटरों में रखे गए दूसरे राज्यों से आए 27 हजार लोग

0

पटना. कोरोनावायरस के संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए 21 दिन के लॉकडाउन का आज 11वां दिन है। बिहार पुलिस लॉकडाउन का पालन कराने में जुटी है। 22 मार्च के बाद अन्य राज्यों से बिहार लौटे 1.80 लाख प्रवासियों की स्क्रीनिंग शुरू हो गई है। पहले मुंबई से आए लोगों की स्क्रीनिंग की जा रही है। इसके बाद केरल, तमिलनाडु तथा दिल्ली से आए लोगों की स्क्रीनिंग होगी। यह काम 6 दिनों में पूरा कर लिया जाएगा। वहीं, राज्य के 3200 क्वारेंटाइन सेंटर में 27 हजार लोग रखे गए हैं। इन सभी को 14 दिनों तक के लिए रखा गया है। इन पर निगरानी रखी जा रही है। जरूरत पड़ने पर इनको आइसोलेशन वार्ड में रखा जाएगा।

जमातियों और विदेशियों की तलाश जारी

दिल्ली के निजामुद्दीन के तब्लीगी मरकज से आए बिहार और विदेश के लोगों की तलाश में जारी है। दरभंगा पुलिस को शहर के मस्जिद में एक विदेशी के छिपे होने की सूचना मिली थी। पुलिस ने जांच की तो पता चला कि यहां एक नहीं 10 विदेशी (म्यानमार के नागरिक) रुके थे। ये लोग 18 मार्च को आए थे और 21 मार्च को चले गए। वे 24 मार्च को पटना से दिल्ली विमान से गए थे। दरभंगा के एसएसपी बाबू राम ने कहा कि नियम के अनुसार जब कोई विदेशी किसी होटल या अन्य जगह ठहरता है तो उसे फॉर्म सी भरकर देना होता है।

विदेशियों को ठहराने वालों पर एफआईआर

विदेशियों को ठहराने वालों ने पुलिस को कोई सूचना नहीं दी थी। इसके चलते विदेशियों को ठहराने वालों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। इसकी सूचना इमिग्रेशन विभाग को भेज रहे हैं, जिससे भविष्य में इन्हें वीजा न मिले और अगर ये भारत में हैं तो वीजा रद्द हो सके, जो लोग विदेशियों के संपर्क में रहे हैं उनके स्वास्थ्य की जांच कराई जा रही है। जरूरत पड़ने पर उन्हें आइसोलेशन या क्वारैंटाइन में रखा जाएगा।

पटना के राहत शिविर में भोजन के लिए एक-दूसरे से दूरी पर दिखे बच्चे। बरतन लिए ये बच्चे अपनी बारी का इंतजार करते दिखे। उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग की मिसाल पेश कर बड़ों को भी नसीहत दी।

कोरोना संक्रमितों की संख्या हुई 31
बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या 31 हो गई है। सबसे अधिक 8 मरीजों का इलाज पटना के एनएमसीएच में चल रहा है। यहां 263 संदिग्ध भर्ती हुए, जिनमें से 199 को डिस्चार्ज कर दिया गया है। यहां भर्ती कोरोना के छह मरीज ठीक भी हुए हैं। पीएमसीएच में 133 संदिग्ध मरीज भर्ती हुए। 100 की रिपोर्ट निगेटिव आई है, जिसके बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। यहां 33 का इलाज चल रहा है। एम्स में कोरोना के दो मरीज का इलाज हो रहा है।

पटना में बैंक ऑफ इंडिया की ब्रांच के बार पेंशन लेने के लिए जुटी लोगों की भीड़। इसमें सोशल डिस्टेंसिंग का पाल नहीं किया गया।

439 और संदिग्ध सर्विलांस पर
कोरोना से संक्रमित संदिग्धों की संख्या में 439 का इजाफा हुआ। 6681 संदिग्ध सर्विलांस पर हैं। संदिग्धों की सर्वाधिक संख्या सीवान में है। यहां 3105 लोग सर्विलांस पर हैं। पूर्वी चंपारण में संदिग्धों की संख्या 213 से बढ़कर 269 और गोपालगंज में 510 से बढ़कर 705 हो गई।

गया में ड्रोन से मुहल्लों पर रखी जा रही नजर
गया शहर में कोरोना के मरीजों की संख्या पांच हो गई है। मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए प्रशासन लॉकडाउन का सख्ती से पालन करा रही है। कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित गुरुद्वारा रोड व आसपास के इलाके में कोई घर से न निकले इसके लिए ड्रोन कैमरे से नजर रखी जा रही है।

बिहार में करोना के पांच और नए मामले सामने आए,प्रदेश में अब तक 29 मरीजों में संक्रमण की पुष्टि

0

पटना. बिहार में कोरोनावायरस के पांच और मामले सामने आए हैं। इनमें से दो गोपालगंज, एक सारण और दो गया के शामिल हैं। प्रदेश में अब पॉजिटिव मरीजों की संख्या 29 हो गई है। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक गोपालगंज के पॉजिटिव पाए गए दोनों मरीजों ने मध्य पूर्व की यात्रा की थी। सारण में मिले संक्रमित ने यूके की यात्रा की थी। जबकि गया में मिले दो मरीजों में एक जिले के पहले संक्रमित युवक की पत्नी है और दूसरी युवक की मां है।

मुंगेर के सैफ से जुड़ा है कनेक्शन

बिहार में कोरोना के संक्रमण से 21 मार्च को मुंगेर के जिस युवक की मौत हुई थी उसने एम्स में भर्ती होने से पहले मुंगेर के नेशनल हॉस्पीटल में भी इलाज करवाया था। इस दौरान गया का संक्रमित युवक वहां केयरटेकर के रूप में मौजूद था। गया के जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने बताया कि युवक के संक्रमित होने की पुष्टि के बाद उसकी पत्नी सहित परिवार के छह सदस्यों को अनुग्रह नारायण मगध चिकित्सा महाविद्यालय अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। सभी का सैंपल आरएमआरआई भेजा गया। गुरूवार को आई जांच रिपोर्ट में उसकी पत्नी और मां में संक्रमण की पुष्टि हुई है।

बेला थानाध्यक्ष अशोक कुमार ने 25 परिवारों के बीच किया खाद्य सामग्री का वितरण

0

सीतामढ़ी – परिहार प्रखण्ड क्षेत्र के बेला-मच्छपकौनी पंचायत के 25 गरीब परिवार के लोगों को स्थानीय थाना परिसर में बुला कर स्थानीय थानाध्यक्ष अशोक कुमार ने खाद्य समाग्री का वितरण किया।

उन्होंने बताया कि थाना कर्मियों के निजी कोष एवं सहयोग से गरीब परिवार के बीच 4-4 किलो चावल का वितरण किया गया। लॉकडाउन के दौरान मजदूर वर्ग के लोगों को विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है।

ऐसे में कोई व्यक्ति भूखा न रहे, इस बात को ध्यान में रखते हुए यह कार्य किया गया है। थानाध्यक्ष अशोक कुमार ने कहा कि आज नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए हम सभी को मास्क लगाना अतिआवश्यक है।

करोना को लेकर बनी कॉल सेंटर पर फोन करके डॉक्टर को परेशान कर रहे हैं लोग

0

सीतामढ़ी – वैश्विक महामारी करोना वायरस को लेकर जिला से लेकर प्रखंड तक कई प्रकार के विभागीय फोन नम्बर जारी किए है ताकि लोगों को कोई परेशानी न हो,इसी दौरान कोरोना वायरस के संबंध मे जानकारी व सुचना देने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिहार मे एक काँल सेंटर बनाया गया है.

लेकिन उस काँल सेंटर पर लोग गलत व झूठी सुचना दे देते है जिससे डॉक्टर की टीम जब गांव पहुचती है तो वह फोन रिसीव नही करता है या मोबाइल बंद कर लेते है जिससे डॉक्टर की टीम बेरंग लौट जाती है.ऐसे लोगो की पहचान कर प्रशासन कठोर कदम उठाने की तैयारी कर रही है

करोना का स्क्रीनिंग करने वाला मशीन मात्र एक,जाँच मे हो रही कठिनाई

0

सीतामढ़ी- परिहार प्रखंड मे कोरोना वायरस महामारी को लेकर अब तक विदेश मे रहने वाले 78 लोगो का चेकअप किया गया है,वही बिहार राज्य से बाहर रह रहे लोग जो वापस अपने गांव आ चुके है ऐसे लोगो मे 300 से ज्यादा का अबतक जाँच हो चुका है,

सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र परिहार के प्रभारी गजनफ्फर हैदर ने बताया की जिला से 400 लोगो की सुची जाँच हेतु भेजी गई है लेकिन एक ही इंफ्रारेड स्कैनिंग मशीन होने के कारण काफी कठिनाई होती है संभवतः प्रतिदिन प्रखंड के विभिन्न गांवों से दो दर्जन लोगो का ही जाँच संभव हो पाता है.

प्रदेश से लौटे लोगों का स्क्रीनिंग करने गई डॉक्टरों के टीम पर हमला

0

सीतामढ़ी- परिहार प्रखंड के धरहरवा गांव मे स्कैनिंग करने गई डॉक्टरो की टीम पर ग्रामीण का हमला.धक्का मुक्की के साथ गाली गलोज व हाथापाई करने का आरोप लगाते हुए मामले को लेकर प्राथमिकी के लिए थाने मे भेजा आवेदन.

मालूम हो की गाजियाबाद से आये 21लोगो की कोरोना वायरस स्कैनिंग के लिए डॉक्टर मोहम्मद अली के नेतृत्व मे डॉक्टरो की टीम गांव पहुंची.
जैसे ही सभी को जाँच की प्रक्रिया शुरू करते अचानक सभी लोग जाँच टीम पर टूट परे.किसी तरह वहा से भागकर जाँच टीम ने जान बचाई.और पीएचसी पहुच मामले की लिखित सिकायत किया व जानमाल की सुरक्षा की गुहार लगाई.

19,042FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe

Recent Posts