CBI के पूर्व डायरेक्टर रंजीत सिन्हा की कोरोना से मौत

0
374
Share

बिहार कैडर के पूर्व IPS, पटना यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र और CBI के पूर्व डायरेक्टर रंजीत सिन्हा का निधन हो गया है। 68 वर्षीय रंजीत सिन्हा गुरुवार को ही कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। शुक्रवार सुबह करीब साढ़े 4 बजे दिल्ली स्थित अपने आवास पर उन्होंने आखिरी सांस ली। जमशेदपुर (अब झारखंड) में जन्मे रंजीत सिन्हा 1974 बैच के IPS अधिकारी थे। कई महत्वपूर्ण पदों पर काम करने के बाद अपने कार्यकाल के आखिरी दिनों में वे CBI के निदेशक रहे थे। इसी दौरान उन पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगे। सिन्हा राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव के करीबी माने जाते थे।

लालू प्रसाद के रेल मंत्री रहते RPF के DG बने थे रंजीत सिन्हा

वर्ष 1974 में भारतीय पुलिस सेवा में आने के बाद व रंजीत सिन्हा रांची, मधुबनी एवं सहरसा में SP, फिर मगध रेंज के DIG रहे थे। बाद में वे केंद्र सरकार की सेवा में चले गए। वहां CBI में DIG-IG और CRPF में IG रहे। जब केंद्र सरकार में लालू प्रसाद रेल मंत्री थे तब रंजीत सिन्हा RPF में DG बने। इसके बाद ITBP में DG रहे और फिर वर्ष 2012 में CBI के डायरेक्टर बनाए गए। इस पद से वे दिसंबर 2014 में रिटायर हुए। अपने कार्यकाल के दौरान उन्हें सराहनीय सेवा पदक व राष्ट्रपति द्वारा विशिष्ट सेवा पदक से सम्मानित किया गया। इसके अतिरिक्त उन्हें CRPF और ITBP में DG Commendation Disc से भी सम्मानित किया गया। हालांकि अपने कार्यकाल के अंतिम वक्त में वे विवादों से भी घिरे।

सिन्हा के रहते ही CBI को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था सरकार का तोता

रंजीत सिन्हा जब CBI के डायरेक्टर बने उसी दौरान कोयला घोटाला की जांच चल रही थी। इस मामले में CBI की जांच रिपोर्ट का ड्राफ्ट सुप्रीम कोर्ट को सौंपने से पहले उन्होंने उसे तत्कालीन कानून मंत्री अश्विनी कुमार को दिखाया था। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने कड़ी आपत्ति जताते हुए CBI को सरकार का तोता तक कह दिया था। बाद में इनके सरकारी आवास के विजिटर डायरी की जांच में कोयला घोटाले के कई आरोपियों के आने-जाने के प्रमाण मिले थे। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में रंजीत सिन्हा की भूमिका की जांच के लिए CBI को आदेश दिया था।

निधन पर बिहार से आए कई शोक संदेश

रंजीत सिन्हा के निधन पर बिहार ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने शोक जताया है। कहा कि वे योग्य, बहादुर और कर्तव्यनिष्ठ पुलिस अधिकारी थे। उन्हें जो भी जिम्मेदारी दी गई उसका बेहतर ढंग से निर्वहन किया। इसके अलावा बिहार पुलिस मुख्यालय ने अपने शोक संदेश में कहा है कि उनके परिवार में उनकी पत्नी, एक पुत्र एवं एक पुत्री है। बिहार पुलिस उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि समर्पित करती है। इनका निधन भारतीय पुलिस सेवा एवं समस्त बिहार पुलिस के लिए अपूरणीय क्षति है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here