HAM ने कहा-हकीकत दुनिया जान चुकी, सलीम परवेज बोले-घड़ियाली आंसू बहाने पहुंचे तेजप्रताप

0
375
Share

शहाबुद्दीन की मौत 1 मई को हुई और 13 मई को लालू प्रसाद के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा से मिलने उनके गांव प्रतापपुर पहुंचे। वे RJD सुप्रीमो लालू प्रसाद के परिवार से पहले व्यक्ति हैं, जो सांत्वना देने सीवान गए हैं। लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव ने 9 मई को विधायकों, पार्षदों के साथ वर्चुअल मीटिंग की थी। 1 मई को बीते 12 दिन हो गए और 9 मई को बीते हुए तीन दिन। तेजप्रताप यादव शहाबुद्दीन के गांव प्रतापपुर के बाद शहर वाले घर पर भी ओसामा के साथ पहुंचे और नाश्ता किया।

ओसामा से मुंह क्यों छिपा रहे तेजस्वी
HAM पार्टी के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने उस पर तंज कसा है कि आखिर तेजस्वी यादव क्यों नहीं जा रहे शहाबुद्दीन के परिवार से मिलने? तेजस्वी ने क्या पाप किया है कि ओसामा से मुंह छुपा रहे हैं? उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय जनता दल के नेता कितना भी डैमेज कंट्रोल कर लें, उनकी हकीकत दुनिया जान चुकी है।

किसी के आने-जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता : सलीम
शहाबुद्दीन की मौत के बाद लालू परिवार पर शहाबुद्दीन की अनदेखी का आरोप लगाने वाले विधान परिषद के पूर्व उपसभापति और RJD से इस्तीफा दे चुके नेता सलीम परवेज ने कहा है कि किसी के आने जाने से कोई फर्क नहीं पड़ता है। शहाबुद्दीन जब अस्पताल में भर्ती थे और उनके परिवार पर दुखों का पहाड़ टूटा हुआ था उस समय जब लालू परिवार ने उनका साथ नहीं दिया तो अब घड़ियाली आंसू बहाने से क्या फायदा। उन्होंने कहा कि शहाबुद्दीन का ब्रुटेल मर्डर हुआ है। इसकी जांच के लिए वे राष्ट्रपति और राज्यपाल को पत्र लिखेंगे और मिलना पड़ेगा तो मिलेंगे। जनता कोई बात बोलती नहीं, लेकिन जवाब देती है। शहाबुद्दीन साहेब का पूरा समाज जवाब देगा, समय आने दीजिए। कहा कि पांच किमी के दायरे में रहने के बावजूद लालू परिवार से कोई भी दिल्ली में उन्हें देखने न अस्पताल में आया न अंतिम संस्कार में। अब 12 दिन के बाद आंसू बहाने निकले हैं। घड़ियाल भी शरमा रहा होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here