कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस ने मचाया तांडव,हर दिन तेजी से बढ़ रहे नए मामले,IGIMS में कुल 99 मरीज भर्ती

0
417
Share

कोरोना के बाद अब ब्लैक फंगस का तांडव जारी है। मंगलवार को 24 घंटे में ब्लैक फंगस से संक्रमित दो मरीजों की इलाज के दौरान मौत हो गई है। इसके साथ ही मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। मंगलवार को 150 से अधिक मामले सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों की OPD में आए हैं। पुष्टि के लिए संक्रमितों की जांच पड़ताल की जा रही है।

विभाग से लेकर जिला स्तर पर समीक्षा

ब्लैक फंगस के बढ़ते मामलों को लेकर अब विभाग के साथ जिला स्तर पर हर दिन समीक्षा हो रही है। राज्य के सभी जिलाधिकारी को ब्लैक फंगस के इलाज और दवाओं की व्यवस्था को लेकर निर्देश दिया गया है। मंगलवार को दवा को लेकर कई जिलों में छापेमारी भी गई है जिसके लिए डीएम ने विशेष टास्क फोर्स लगाई थी। भागलपुर में तो खुद DM ने टीम के साथ छापेमारी की है और दवा की दुकानों की पूरी पड़ताल की है।

कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव और ब्लैक फंगस

कोरोना की पॉजिटिव रिपोर्ट वालों में भी ब्लैक फंगस के मामले अधिक मिल रहे हैं। मंगलवार को इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान IGIMS में कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट के साथ ब्लैक फंगस के कुल 5 नए मामले आए हैं। पूर्व में 6 संक्रमित संस्थान में भर्ती हैं जो कोरोना पॉजिटिव होने के साथ ब्लैक फंगस से संक्रमित हैं। ऐसे मामलों की कुल संख्या 11 हो गई है जिसमें कोरोना पॉजिटिव के साथ संक्रमित को ब्लैक फंगस भी है।

कोरोना निगेटिव के बाद भी तेजी से बढ़ रहा ब्लैक फंगस

कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट के बाद ब्लैक फंगस के मामले काफी अधिक आ रहे हैं। मंगलवार को 24 घंटे में 14 नए ऐसे मामले आए हैं जिनमें कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव थी और उन्हें ब्लैक फंगस था। पूर्व में भी ऐसे 74 लोग भर्ती हैं जो कोरोना निगेटिव होने के बाद ब्लैक फंगस से पीड़ित हैं। ऐसे संक्रमितों की संख्या 88 हो गई है।

IGIMS में दो संक्रमितों ने तोड़ा दम

इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान(IGIMS) में मंगलवार को दो कोरोना संक्रमितों की मौत हो गई है। संस्थान के मेडिकल सुपरिटेंडेंट ने बताया कि दोनों संक्रमिताें की हालत काफी खराब थी। संक्रमण की रफ्तार काफी तेजी से फैल रही थी और ब्लैक फंगस का मामला भी काफी देरी से डिटेक्ट हुआ था। मंगलवार को हुई दो मौत के बाद अब कुल भर्ती ब्लैक फंगस के संक्रमितों की संख्या 99 हो गई है।

AIIMS के साथ निजी अस्पतालों में भीड़

पटना AIIMS के साथ निजी अस्पतालों में आने वाले संक्रमितों की संख्या में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है। एम्स में भर्ती मरीजों की संख्या लगभग डेढ़ सौ हो गई है। हालांकि मंगलवार को किसी संक्रमित के मरने की सूचना नहीं है। इसी तरह पटना के निजी अस्पतालों में भी एक दिन में ब्लैक फंगस के संदिग्ध मरीजों के ओपीडी में पहुंचने की संख्या 20 से अधिक हैं। हालांकि इसमें से अधिकतर मामलों में ब्लैक फंगस की पुष्टि नहीं हो पाई है। ओपीडी में आने वाले ऐसे मामलों में जांच के लिए बड़े संस्थान में रेफर किया जा रहा है या फिर संबंधित संस्थान में ही मरीजों की जांच कराई जा रही है।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here