कोरोना गाइडलाइन तोड़ने के आरोप में जाप अध्यक्ष पप्पू यादव गिरफ्तार

0
448
Share

कोरोना काल में पूर्व सांसद पप्पू यादव की एक्टिविटी को देखते हुए अरेस्ट कर लिया गया है। उन्हें गिरफ्तार करने के लिए पटना कोतवाली DSP समेत पांच थानों के थाना प्रभारी उनके मंदिरी आवास गए, जहां से पप्पू यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है। हालांकि, पप्पू यादव ने पुलिस को लिखित दिया है कि यदि प्रशासन नहीं चाहता है कि वह इस कोरोना काल में घर से बाहर निकले तो वह अपने आवास से बाहर नहीं निकलेंगे। लेकिन पटना पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और गांधी मैदान थाना लेकर गई।

मंगलवार सुबह पटना के मंदिरी आवास पर पप्पू यादव अपने समर्थकों के साथ बैठकर रणनीति बना रहे थे कि वह आज किन-किन इलाकों में और किस किस अस्पताल में जाएंगे, तभी कोतवाली DSP और आसपास के थाना प्रभारी उन्हें गिरफ्तार करने के लिए पहुंच गए। पप्पू यादव की तरफ से यह प्रस्ताव दिया गया है कि यदि प्रशासन नहीं चाहता है कि वह इस दरमियान घर से बाहर निकले तो वह घर से बाहर नहीं निकलेंगे। पप्पू यादव ने लिखित कॉपी भी कोतवाली DSP को सौंपी है। लेकिन DSP सुरेश कुमार ने ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया और उन्हें गांधी मैदान थाना लेकर गई।

हाल में पप्पू यादव लगातार कोरोना काल में अस्पताल, श्मशान और अलग-अलग जिलों में घूमकर कोरोना पीड़ितों की मदद कर रहे थे। सरकार के काम पर सवाल उठा रहे थे। 7 मई की शाम में छपरा पहुंचकर पप्पू यादव ने BJP सांसद राजीव प्रताप रूडी के आवास पर 2 दर्जन से अधिक एंबुलेंस ढंककर रखने के मामले को उजागर किया था। जो काफी सुर्खियों में रहा था। पप्पू यादव ने राजीव प्रताप रूडी पर केस दर्ज करने की मांग की थी। बाद में छपरा में पप्पू यादव पर केस दर्ज हुआ। इसके बाद पटना में भी कोरोना गाइडलाइन को लेकर पप्पू यादव पर FIR दर्ज की गई। इसके बाद मंगलवार सुबह उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। पप्पू यादव पर पहले से भी कई केस चल रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here