जेल में बात करने का मौका मिला तो झगड़ पड़े खुशबू और राजीव, जानिए और क्‍या-क्‍या हुआ

0
474
Share

Patna Crime: पटना में जिम ट्रेनर विक्रम सिंह पर कातिलाना हमला कराने में गिरफ्तार होने के बाद बेउर जेल में बद फिजियोथेरेपिस्ट राजीव सिंह व उनकी पत्नी खुशबू सिंह ने रविवार को कारा प्रशासन से अनुमति लेकर 25 मिनट तक बातचीत की। हालांकि, दरवाजे पर महिला कक्षपाल की ड्यूटी लगाई गई थी। पहले तो दोनों के बीच कहासुनी हुई फिर मुकदमे से संबंधित बातें होने लगीं। बीच-बीच में घर परिवार की चर्चा हुई। खुशबू अधिक गर्मी से परेशानी की बात कह रही थी। खुशबू ने महिला वार्ड में काफी गर्मी की कारा प्रशासन के अधिकारियों से शिकायत की। एसी या कूलर मुहैया कराने का अनुरोध किया। हालांकि, कारा प्रशासन ने इसे खारिज कर दिया। पंखा बदलवाने की मांग की है। उसने शिकायत की कि वह जिस वार्ड में रह रही है उसका पंखा काफी धीमी गति से चल रहा है। आवाज भी करता है।

सूत्रों की मानें तो उसने अपने पैसे से एसी खरीदकर जेल में मंगवाने की अनुमति मांगी, जिसे प्रशासन ने खारिज कर दिया। कारा प्रशासन ने पंखा बनवाने का आश्वासन दिया है। रविवार को खुशबू भोजन को लेकर अधिक परेशान नहीं दिखी। उसके लिए अलग से रोटी सब्जी की व्यवस्था की गई। वहीं, राजीव सिंह ने आमद वार्ड के मेस में बने चावल-रोटी व भिंडी की सब्जी खाया।

अनुमति के बाद जेल में राजीव और खुशबू के बीच 25 मिनट तक बातचीत एसी-कूलर मुहैया कराने के अनुरोध को कारा प्रशासन से ठुकराया अभी आमद वार्ड में ही रहेंगे राजीव सिंह, पटना का हाई प्रोफाइल का मामला जिम ट्रेन पर सुपारी किलर के जरिए हमला करवाने का है आरोप

डाक्टरों से की बेचैनी की शिकायत

पति-पत्नी ने जेल अस्पताल पहुंचकर बेचैनी की शिकायत की। इसके बाद जांच की गई। जांच में सबकुछ नार्मल पाया गया फिर भी कारा चिकित्सकों ने उसे दवा दे दी। रविवार को भी उनसे मिलने कोई नहीं पहुंचा। आपको बता दें कि राजीव सिंह बिहार के सत्‍ताधारी दल जदयू में पदधारक थे, लेकिन यह मामला सामने आते ही उन्‍हें पार्टी से बाहर कर दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here