नोबेल विजेता कैलाश सत्यार्थी को संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा एसडीजी एडवोकेट बनाए जाने से खुशी की लहर

0
436
Share

सीतामढ़ी:- नोबेल शांति पुरस्‍कार से सम्‍मानित कैलाश सत्‍यार्थी को संयुक्त राष्ट्र संघ ने अपना सतत विकास लक्ष्य (SDG) एडवोकेट बनाया है. बचपन बचाओ आंदोलन के संस्थापक श्री सत्यार्थी को एडवोकेट बनाए जाने की खबर जब सीतामढ़ी जिला के परिहार प्रखंड मे पीवीसी के गांव दुबे टोल में मुकुंद कुमार चौधरी के द्वारा बचपन बचाओ आंदोलन से जुड़े सदस्यों को दी गई खबर सुनते ही लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई।

लोगों ने एक दूसरे को बधाइयां दी है वही रविवार को पीवीसी के सदस्य चंदन मांझी के नेतृत्व में मनिकथर गांव में एकत्रित होकर एक दूसरे को बधाई देकर खुशी का इजहार किया। इस अवसर पर सत्येंद्र कुमार की अगुवाई में सभी ने बालश्रम व बाल विवाह मुक्त गांव बनाने की परिकल्पना को साकार करने का संकल्प लिया इस अवसर पर मीजोलिया, दुबे टोल ,मनिकथर आदि गाँव के छात्र – छात्रा उपस्थित रहे।

गौरवतल है कि एस.डी.जी एडवोकेट के रूप में कैलाश सत्यार्थी संयुक्त राष्ट्र संघ के सतत विकास लक्ष्य को सन 2030 तक हासिल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे. कैलाश सत्‍यार्थी की नियुक्ति उनकी नेतृत्‍व क्षमता और नैतिक बल की स्‍वीकारोक्ति है. यह उनके इन विचारों की वैश्विक मान्यता भी है कि बाल श्रम, दासता और ट्रैफिकिंग का उन्मूलन किए बगैर संयुक्त राष्ट्र सतत विकास लक्ष्य को हासिल नहीं किया जा सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here