बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण करने पहुंचे थे CO, ग्रामीणों ने 3 KM तक पैदल चलवाया

0
425
Share

मुजफ्फरपुर में बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का निरीक्षण करना एक मुखिया प्रतिनिधि और CO (अंचलाधिकारी) पारसनाथ राय को महंगा पड़ गया। बाढ़ पीड़ितों ने जमकर हंगामा किया। महिलाओं ने मुखिया प्रतिनिधि का कॉलर पकड़ कर धक्का-मुक्की की।

वहीं, CO के वाहन का घेराव कर लिया। उन्हें गाड़ी से उतार लिया और 3 KM पैदल चलवाया। मामला कटरा प्रखंड के तेहवारा का है। हंगामा की सूचना मिलने के बाद कटरा थाना की पुलिस मौके पर पहुंची और आक्रोशितों को शांत कराया। इसके बाद वहां से सकुशल CO को निकाला जा सका।

कटरा प्रखंड के दर्जनों गांव के लोग बाढ़ का कहर झेल रहे हैं। बाढ़ पीड़ित इस बात से आक्रोशित थे कि काफी दिनों से उनका कोई हाल जानने नहीं आया है। CO और मुखिया प्रतिनधि निरीक्षण करने पहुंचे थे। CO अपनी सरकारी वाहन से निरीक्षण कर रहे थे। यह देख लोगों का आक्रोश फूट पड़ा। भीड़ ने जबरन उन्हें वाहन से उतार लिया और क्षेत्र में पैदल चलवाया।

कुछ महिलाओं ने मुखिया प्रतिनिधि का कॉलर पकड़कर धक्का-मुक्की कर दी।

कुछ महिलाओं ने मुखिया प्रतिनिधि का कॉलर पकड़कर धक्का-मुक्की कर दी।

मुखिया प्रतिनिधि ने भागकर बचाई जान

बाढ़ पीड़ितों में सबसे अधिक महिलाएं आक्रोशित थीं। जैसे ही उन्होंने मुखिया प्रतिनिधि को देखा, उनका आक्रोश बढ़ गया। महिलाओं ने हंगामा करना शुरू कर दिया। कहा कि इतने दिनों तक हमलोगों को कोई देखने नहीं आया। अब हाल जानने आए हैं। वहां से जाने को कहा। इसी बीच कुछ महिलाओं ने मुखिया प्रतिनिधि का कॉलर पकड़कर धक्का-मुक्की कर दी। किसी तरह उन्होंने वहां से भागकर अपनी जान बचाई।

ग्रामीणों ने बाढ़ के पानी में ही CO को पैदल चलवाया।

ग्रामीणों ने बाढ़ के पानी में ही CO को पैदल चलवाया।

सुविधा दी नहीं और चेहरा चमकाने आ गए

बाढ़ पीड़ित लोगों ने कहा- ‘दो माह से अधिक समय से हम लोग बाढ़ का कहर झेल रहे हैं। अब तक कोई सुविधा स्थानीय मुखिया की तरफ से नहीं मिली। अब जब पंचायत चुनाव का समय नजदीक आया है तो चेहरा चमकाने आ गए।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here