भोजपुर के सस्पेंडेड MVI के 3 ठिकानों पर रेड,पटना,आरा और बक्सर के घरों को खंगाल रही EOU

0
293
Share

बिहार की आर्थिक अपराध शाखा (EOU) की टीम ने भोजपुर जिले से सस्पेंड किए गए मोटर व्हिकल इंस्पेक्टर (MVI) विनोद कुमार के तीन ठिकानों पर छापेमारी की है। मामला बालू के अवैध खनन और इसके जरिए की गई काली कमाई का है। इनका पहला ठिकाना पटना के रुपसपुर थाना के धनौत इलाके में स्थित शांति इन्क्लेव अपार्टमेंट है।

इसके फ्लैट नंबर 204 में विनोद अपने परिवार के साथ रहते हैं। इनका दूसरा ठिकाना व पुश्तैनी घर बक्सर जिले के नवानगर में है। पोस्टिंग के दौरान इन्होंने अपना तीसरा ठिकाना आरा के आनंद नगर के तहत मोतीझील इलाके में बनाया।

ADG नैयर हसनैन खान के निर्देश पर तीन अलग-अलग टीमों ने सभी ठिकानों पर छापेमारी शुरू की। तीनों ठिकानों को खंगाला जा रहा है। इनके द्वारा अर्जित चल-अचल संपत्ति के डिटेल्स निकाले जा रहे हैं। कब, कहां जमीन खरीदी? किन-किन जगहों पर रुपयों का इंवेस्टमेंट किया? इसके बारे में पता लगाया जा रहा है।

बालू माफिया की मदद का आरोप

विनोद पर भोजपुर के MVI पद पर बने रहने के दौरान बालू माफिया की मदद करने का आरोप है। बताया जा रहा है कि अवैध रूप से हर दिन हर ट्रक पर बालू की ओवरलोडिंग होती थी। पूरा मामला इनके संज्ञान में था। इसके बाद भी ओवरलोडिंग को लेकर इन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की। सरकार को आर्थिक तौर पर राजस्व का नुकसान होता रहा और वह माफिया के जरिए काली कमाई करते रहे। काफी सारे कंप्लेन मिलने के बाद राज्य सरकार ने इनके खिलाफ भी जांच करवाई थी। इसकी रिपोर्ट में इनके ऊपर लगे आरोप सही पाए गए।

इसी आधार पर 7 सितंबर को EOU ने आय से अधिक संपत्ति के तहत FIR नंबर 16/2021 दर्ज की। साथ ही कोर्ट से इनके तीनों ठिकानों पर छापेमारी करने के लिए सर्च वारंट हासिल किया। अब छापेमारी की कार्रवाई चल रही है।

बालू के अवैध खेल से की गई काली कमाई के मामले में EOU ने MVI से पहले डेहरी ऑन सोन के सस्पेंडेड SDM और दो डिप्टी SP के ऊपर अपना शिकंजा कस चुकी है। इनके खिलाफ अलग-अलग FIR दर्ज कर इनके ठिकानों को खंगाल चुकी है।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here