महम्मदपुर में बोले तेजस्वी- रावण सेना के प्रवीण को छोड़ने नेपाल गई पुलिस, SP-DSP हटेंगे तभी मिलेगा न्याय

0
1081
Share

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव आज मधुबनी के महमदपुर पहुंचे और वहां हत्याकांड में मारे गए भाइयों के परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान पीड़ित परिवार को पांच और एक लाख रुपए के चेक दिए। उन्होंने कहा कि ‘रावण सेना’ नाम से संगठन चलाने वाले लोगों ने यहां पांच भाइयों की नृशंस हत्या की है। इसे प्रवीण झा नाम का गुंडा चलाता है। पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा, प्रवीण के गुरु हैं। प्रवीण की मिलीभगत प्रशासन के लोगों से है। यहां की पुलिस प्रवीण को छोड़ने नेपाल तक गई।

पीड़ित परिजन को चेक देते तेजस्वी।

पीड़ित परिजन को चेक देते तेजस्वी।

‘मुख्यमंत्री हैं तो मुख्यमंत्री जैसा काम कीजिए, परिजनों से मिलिए’

तेजस्वी यादव ने कहा कि हत्याकांड में एकतरफा गोली चलाई गई। इसके बाद खुखरी से हमला किया गया। BSF जवान की भी हत्या कर दी गई। यहां के SP और DSP जब तक पद पर रहेंगे पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिल सकता। परिवार को कोई सुरक्षा नहीं दी गई। पूरा परिवार डरा हुआ है। एक ही घर की तीन-तीन महिला विधवा हो गई। इनके बच्चे हैं। अपराधी को संरक्षण देने वाले ही घटना की जांच कर रहे हैं। ऐसे में न्याय कहां से मिलेगा? हद यह कि कोई वरीय पदाधिकारी यहां नहीं आए। IG नहीं आए। ब्यूरोक्रेसी की हद है।

कहा कि मुख्यमंत्री थक चुके हैं। मुख्यमंत्री कहते हैं कि क्राइम कंट्रोल करना पुलिस की जिम्मेदारी है। अब पता चला यह कोरिया के किम जोंग की जवाबदेही है। मुख्यमंत्री हैं तो मुख्यमंत्री जैसा काम कीजिए, पीड़ित परिवार से मिलिए। लेकिन मुख्यमंत्री और अधिकारी सभी संरक्षण देने में लगे हैं।

‘रावण सेना को सत्ता का संरक्षण मिल रहा है’

तेजस्वी ने आरोप लगाया कि होली से एक दिन पहले हत्यारों के साथ विनोद नारायण झा की मीटिंग हुई थी। उन्हें यह सब परिजनों ने ही बताया है। हद है कि न्याय के लिए लोगों को भीख मांगनी पड़ रही है। नाक रगड़ना पड़ रहा है। राक्षस राज में रावण सेना को संरक्षण दिया जा रहा है। कहा कि विपक्ष के नाते हम मांग करते हैं कि पीड़ित परिवार को सुरक्षा दी जाए, नामजद की अविलंब गिरफ्तारी हो। पूर्व मंत्री का नाम आया है तो उनसे भी पूछताछ की जाए। परिजनों को राज्य सरकार नौकरी दे। मधुबनी SP और DSP को हटाया जाए।

विनोद नारायण झा ने सोशल मीडिया पर दी थी सफाई

इस मामले में BJP विधायक व पूर्व मंत्री विनोद नारायण झा ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी सफाई दी थी। उन्होंने कहा कि जिस जगह घटना हुई है, वह उनके विधानसभा क्षेत्र में नहीं है। वे बेनीपट्टी के विधायक हैं लेकिन बेनीपट्टी थाने के जिस गांव में हत्याकांड हुआ है, वह हरलाखी विधानसभा में आता है। वे अभी दिल्ली में अपनी बेटी-दामाद के पास हैं। झा की सफाई पर उनका बचाव करने राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी भी आगे आए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here