लालू की वर्चुअल मीटिंग में पूर्व सांसद को दी गई श्रद्धांजलि, उधर रीतलाल ने सीवान में ओसामा को तेजस्वी का संदेश दिया

0
1697
Share

लालू परिवार अब शहाबुद्दीन परिवार को मनाने में जुटा है। तभी तो RJD की आज हुई वर्चुअल मीटिंग की शुरुआत शहाबुद्दीन को श्रद्धांजलि देने के साथ हुई। इससे पहले आज ही तेजस्वी यादव के नजदीकी और चहेते बाहुबली विधायक रीतलाल यादव ने सीवान पहुंचकर शहाबुद्दीन के बेटे ओसामा से मुलाकात की। माना जा रहा है कि यह मुलाकात डैमेज कंट्रोल करने के लिए है। बाहुबली नेता के परिवार को मनाने के लिए बाहुबली नेता का उपयोग किया जा रहा है।

हालांकि शहाबुद्दीन और रीतलाल यादव की राजनीति अलग-अलग रही है। शहाबुद्दीन का कार्यक्षेत्र सीवान रहा तो रीतलाल यादव का कार्यक्षेत्र पटना के आसपास। चूंकि दोनों बाहुबली रहे हैं तो तेजस्वी यादव ने बाहुबली के परिवार को बाहुबली नेता से मनवाने की कवायद शुरू की है।

रीतलाल ने ओसामा तक पहुंचाया तेजस्वी का संदेश

शहाबुद्दीन के घर रीतलाल यादव का पहुंचना और ओसामा से उनकी मुलाकात को बेहद अहम माना जा रहा है। रीतलाल यादव इस वक्त तेजस्वी यादव के बेहद करीबी विधायकों में गिने जाते हैं। पिछले कई मौकों पर रीतलाल तेजस्वी के साथ खड़े नजर आए हैं।

रीतलाल यादव ने ओसामा से मुलाकात कर तेजस्वी यादव के संदेश को उन तक पहुंचाया है। जाहिर है ओसामा यदि खुलकर तेजस्वी और RJD का समर्थन कर देते हैं, तो कुछ हद तक शहाबुद्दीन के समर्थकों और अल्पसंख्यक नेताओं की नाराजगी दूर होगी।

शहाबुद्दीन मामले में RJD विधायक भी पार्टी से नाराज

दरअसल, कुछ दिन पहले RJD के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन का निधन दिल्ली के DDU अस्पताल में कोरोना की वजह से हो गया था। शहाबुद्दीन के निधन के बाद से उनके समर्थकों में लालू यादव और उनके परिवार के खिलाफ नाराजगी देखने को मिल रही थी। शहाबुद्दीन के समर्थक यह मानते हैं कि लालू यादव और उनके परिवार के लोगों ने शहाबुद्दीन को बचाने की कोशिश नहीं की। बाद में जब उनकी मृत्यु हो गई तब भी उन्हें दफनाने में लालू परिवार से कोई मदद नहीं मिली। यहां तक शहाबुद्दीन के शव को दिल्ली से सीवान नहीं लाया जा सका। इस बात पर RJD विधायकों में भी नाराजगी देखने को मिल रही है। लालू परिवार को इस बात का इल्म है कि शहाबुद्दीन का परिवार नाराज होता है तो, उनसे बहुत बड़ा मुस्लिम वोट बैंक खिसक जाएगा। इस नाराजगी को दूर करने में अब तेजस्वी के करीबी विधायक जुटे हुए हैं।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here