वैशाली में संक्रमण से हुई मौत, जब कोई नहीं आया तो CHC प्रभारी व मुखिया ने करवाया दाह-संस्कार

0
534
Share

देश के सरहद की हिफाजत के लिए तैनात एक फौजी के वृद्ध पिता की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई। घंटों शव पड़ा रहा। परिवार में दूसरा कोई पुरुष सदस्य भी नहीं था। खौफ से टोला-मोहल्ला के लोग, कोई सगे-सम्बन्धी भी शव को श्मशान तक ले जाने के लिए आगे नहीं आए। सरकारी-प्राइवेट एम्बुलेंस की भी व्यवस्था नहीं हो सकी। आखिरकार महनार CHC के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी व स्थानीय युवा मुखिया ने शव को कंधा देकर न केवल श्मशान पहुंचाया, बल्कि दाह-संस्कार भी किया। घटना वैशाली जिले के महनार ब्लॉक के हसनपुर दक्षिणी गांव की है। पूर्व सांसद पप्पू यादव ने इस प्रकरण में सरकार व स्वास्थ्य विभाग को जमकर खरीखोटी सुनाई है।

बेटा सीमा पर पिता की घर में मौत

महनार के हसनपुर दक्षिणी पंचायत निवासी वृद्ध की कोरोना संक्रमण से रविवार हो गई थी। बेटा सेना में है। घर पर कोई पुरुष नहीं था। समाज ने संक्रमण के डर से स्वयं को किनारा कर लिया। घर की महिलाएं बेबस थी। सगे-संबंधियों को भी फोन कर क्रिया-कर्म के लिए आने को कहा पर सभी ने मुंह फेर लिया।

शव ढोने के लिए नहीं मिला एम्बुलेंस

कोरोना त्रासदी की इस घड़ी में संक्रमित व्यक्ति की मरने से पहले और मरने के बाद भी भारी दुर्गति हो रही है। बताया गया कि मुखिया मुकेश सिंह ने महनार सीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. मनोरंजन कुमार सिंह को कोरोना मरीज की मौत की जानकारी देकर शव डिस्पोजल कराने का अनुरोध किया। प्रभारी ने बताया कि सीएचसी का एम्बुलेंस खराब पड़ा है। उन्होंने मुखिया को सीएस से बात कर एम्बुलेंस मांगने को कहा। मुखिया मुकेश ने अपने स्तर से सीएस के साथ ही जिले के सभी सक्षम अफसरों से बात की पर एम्बुलेंस की व्यवस्था नहीं हो सकी।

कंधा देने आ गए डॉक्टर

जब कोई चारा न रहा तब प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. मनोरंजन खुद मृतक के घर आए। कई जोड़े पीपीई किट लिए थे। पड़ोस के लोगों को आश्वस्त किया कि शव को सेनेटाइजर से नहला प्लास्टिक से वे खुद लपेट देंगे। शव उठाने वाले के लिए पीपीई किट लेकर आए हैं। किसी को संक्रमित नहीं होने देंगे। उनके भरोसे देने के बाद भी कोई शव के निकट फटकना तक गंवारा नहीं किया। आखिरकार प्रभारी व मुखिया शव को प्लास्टिक में लपेटकर गंगाघाट ले जाकर दाह-संस्कार किया।

CS पर मुकदमा होना चाहिए
स्टिंग ऑपरेशन कर एम्बुलेंस का सच सामने लाकर हड़कंप मचाने वाले जाप सुप्रीमो पूर्व सांसद पप्पू यादव ने इस प्रकरण में सरकार व स्वास्थ्य विभाग को कटघरे में खड़ा किया है। उन्होंने कहा इस विपदा की घड़ी में भी विभाग ने न सुधरने की कसम खा रखी है। सिस्टम फेल है। नेता, मंत्री-विधायक ट्वीट-ट्वीट खेल रहे हैं। रक्षक ही भक्षक बना हुआ है। दरभंगा CS मशीन गायब करता है तो कोई महामारी में कमाई का अवसर ढूंढ़ता है। उन्होंने कहा कि नकारा वैशाली सिविल सर्जन के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here