सरकारी दावों के उलट कोरोना की तीसरी लहर के लिए न फंड न निर्देश

0
513
Share

परिहार सीतामढ़ी संवाद सहयोगी – कोरोना की दूसरी लहर की भयावहता से हर कोई वाकिफ है। इसे याद करके आज भी कलेजा कांप उठता है। दूसरी लहर के दौरान स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई थी। सारे दावे खोखले साबित हुए थे। विशेषज्ञों ने अब तीसरी लहर की आशंका व्यक्त कर दी है। दूसरी लहर के दौरान लचर स्वास्थ्य व्यवस्था का जो खामियाजा भुगतना पड़ा था, वह तीसरी लहर के दौरान नहीं झेलना पड़े इसको लेकर बड़े-बड़े सरकारी दावे किए जा रहे हैं।

लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही नजर आ रहा है। करीब साढ़े तीन लाख की आबादी को स्वस्थ सुविधा मुहैया कराने वाला प्रखंड मुख्यालय स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में तीसरी लहर को लेकर कोई तैयारी नहीं की गई है। स्वास्थ्य प्रबंधक संजय कुमार ने बताया कि इसको लेकर न तो कोई फंड है और नहीं कोई निर्देश आया है। लिहाजा सब कुछ आम दिनों की तरह ही चल रहा है।

— अस्पताल में आज तक एक भी कोरोना मरीज का इलाज नहीं — बता दें कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में आज तक एक भी कोरोना मरीज का इलाज नहीं हुआ है। बताया गया कि यहां कोविड जांच एवं वैक्सीनेशन की सुविधा है। लेकिन इलाज के लिए मरीजों को डेडीकेटेड कोविड अस्पताल में भेजा जाता है। जिन्हें अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं है, वैसे मरीजों को दवा का कीट देकर होम आइसोलेशन में भेज दिया जाता है।

— न मास्क की चिंता न सैनिटाइजर की व्यवस्था– गौरतलब है कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में एक स्वचालित सैनिटाइजर मशीन लगा हुआ है। लेकिन मशीन में सैनिटाइजर नहीं होने के कारण यह केवल शोभा का वस्तु बना हुआ है। बताया गया कि सैनिटाइजर उपलब्ध नहीं है। उपलब्ध होने के उपरांत मशीन में सैनिटाइजर भर दिया जाएगा। यही नहीं अस्पताल में आए अधिकांश लोग बिना मास्क के दिखे। यहां फिजिकल डिस्टेंसिंग के लिए जगह-जगह गोल घेरा बनाया गया था। लेकिन उसका पालन करता कोई नहीं दिखा। लोग पूरी तरह बेपरवाह नजर आए।

— वैक्सीनेशन को उमड़ी भीड़ — स्वास्थ्य केंद्र की ओर से आदर्श मध्य विद्यालय परिहार में लोगों का टीकाकरण किया जा रहा था। वैक्सीनेशन के लिए महिला एवं पुरुषों की भीड़ उमड़ पड़ी। यहां भी अधिकांश लोग बिना मास्क के नजर आए। फिजिकल डिस्टेंसिंग की जगह लोग एक दूसरे के ऊपर चढ़े नजर आ रहे थे। कुछ पुलिस वाले लोगों को व्यवस्थित करने का प्रयास कर रहे थे। बावजूद फिजिकल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ती रही।

— प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ आरपी शाही — प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने बताया कि तीसरी लहर को लेकर तैयारी पूरी है। 3 बेड बढ़ाया गया है चिकित्सकों एवं अन्य कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है। वैसे उन्होंने कहा कि अपने यहां फिलहाल तीसरी लहर की संभावना नहीं है। दूसरे राज्यों में संक्रमण बढ़ने के बाद जब लोग वहां से लौट आएंगे तब अपने यहां संक्रमण का खतरा बढ़ेगा। मास्क के नाम पर कहा कि पहले लोग सावधानी बरत रहे थे। लेकिन फिलहाल लापरवाह हो गए हैं। उन्होंने लोगों से मास्क पहनने एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने का आग्रह किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here