सेक्स रैकेट में अरेस्ट 7 लड़कियां सहित 9 को जेल,पटना में ऑन डिमांड फ्लाइट से बुलाई जाती थी लड़कियां

0
857
Share

एग्जीविशन रोड के होटल दयाल पैलेस में चल रहे हाई प्रोफाइल सेक्स रैकेट में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। यहां ग्राहकों की डिमांड पर सेक्स रैकेट सरगना मन-मुताबिक कीमत पर कॉल गर्ल को पटना के बाहर भी भेज देता था।

बताया जा रहा है कि ग्राहकों को पहले व्हाट्सऐप के जरिए फोटो दिखाया जाता था, पसंद आने पर एक रात या कुछ घंटों की कीमत तय की जाती थी। कुछ ग्राहक ऐसे भी होते थे जो पूरी रात या दो दिन तक ठहरते थे। उनकी कीमत अलग होती थी। यहां तक की कई बार दूसरे राज्यों से फ्लाइट से लड़कियों को पटना बुलाया जाता था। अब तक की जानकारी के अनुसार इसमें 6 दलालों की मदद ली जाती थी।

होटल संचालक के कनेक्शन कई दूसरे राज्यों में भी मिले हैं। दिन से लेकर रात तक दयाल होटल में कमरों की बुकिंग चलती थी। रात में कमरा लेने वाले ग्राहकों का अलग रेट था। रविवार और छुट्टी के दिन भी यहां ग्राहकों की भीड़ लगती थी। होटल मालिक हर तीन घंटे पर लड़कियों का कमरा बदल देता था।

नालंदा, बंगाल और यूपी के मुगलसराय की मिली लड़कियां

बुधवार देर रात पुलिस टीम ने सबसे पहले होटल दयाल के कमरा नंबर 107 को खंगाला था। इस कमरे में नालंदा जिले के नवाजीबीघा की एक लड़की के साथ दरभंगा के विरौल का रहने वाला अंशू कुमार गारा आपत्तिजनक स्थिति में पकड़ा गया था। इसके बाद कमरा नंबर 108 से पटना के ही पटेल नगर के रहने वाले मुकेश कुमार को वेस्ट बंगाल के 24 परगना की रहने वाली लड़की के साथ पकड़ा गया। मुकेश ने उस वक्त शराब भी पी रखी थी। कमरे से 375 ML शराब की बोतल भी पुलिस ने बरामद की थी। इसके बाद कमरा नंबर 110 की तलाशी हुई। इस कमरे से उत्तर प्रदेश की एक महिला मिली। काफी सारे आपत्तिजनक सामान भी कमरे से मिले।

फिर कमरा नंबर 103 से बंगाल के नादिया से आई लड़की के साथ दरभंगा के बिरौल का रहने वाले सन्नी कुमार को पकड़ा गया। सन्नी यहां अपने तीन दोस्तों के साथ आया था। इसके लिए उसने UPI के जरिए 18 हजार रुपए पे किया था। इसके बाद पुलिस ने कमरा नंबर 101 से दरभंगा के सुपौल बाजार के धीरज कुमार को बंगाल के वर्धमान से आई लड़की के साथ पकड़ा गया था। FIR के अनुसार, पकड़े जाने के बाद किसी ने भी एक-दूसरे के बारे में कोई सही जानकारी नहीं दी थे।

पूछताछ में लड़कियों ने बताया- “हर 3 घंटे पर उनके कमरे को बदल दिया था। उन्हें दूसरे कस्टमर्स के पास भेज दिया जाता था।’ होटल मालिक पंकज शराब कहां से लाता था? इस बारे में भी उसने कुछ नहीं बताया। पकडे़ गए रजनीश कुमार और उसके साथ रहने वाली एक लड़की मिलकर ही इस रैकेट के लिए होटल में लड़कियों को पहुंचाया करते थे।

शराब के नशे में मिले काउंटर स्टाफ ने बताया था दलालों का नाम

FIR में थानेदार ने लिखा है- “होटल दयाल में वो अपनी टीम के साथ छापेमारी करने 18 अगस्त की रात 10 बजकर 45 मिनट पर पहुंचे थे। जो देर रात 2:30 बजे तक चली थी। इस कार्रवाई में कोतवाली और महिला थाना की टीम भी शामिल थी। टीम सबसे पहले होटल के रिशेप्सन पर पहुंची। काउंटर पर मौजूद स्टाफ कृष्ण मोहन शराब के नशे में था। विश्वास में लेते हुए पुलिस ने उससे पूछताछ की और एक बड़ा राज उगला। शशि, अभिषेक, चंदन, रजनीश कुमार, आदित्य सिंह उर्फ विक्की और मीरा कुमारी दलाल हैं। इन्हीं दलालों के जरिए होटल मालिक पंकज सेक्स रैकेट को चला रहा था। इनके जरिए ही दूसरे शहरों से लड़कियों को बुलाया जाता था।’

निशाने पर पुलिस पदाधिकारी भी

इस मामले में गांधी मैदान थाना में तैनात कुछ पुलिस वालों के उपर भी अवैध वसूली के आरोप लगे हैं। होटल में चल रहे अनैतिक काम के बारे में थाने की पुलिस को पहले से सूचना थी। यह गोरखधंधा लंबे वक्त से चलता आ रहा है। सवालों के घेरे में उस इलाके का चक्कर लगाने वाले क्विक मोबाइल के जवान और उनका साथ देने वाले पुलिस पदाधिकारी हैं। सिटी एसपी सेंट्रल अम्बरीश राहुल ने कहा- “जनरल तौर पर थाना की पुलिस पर आरोप लगे हैं। अवैध वसूली की बात सामने आई है। इनकी भूमिका की जांच होगी।’

जेल भेजे गए सभी, लॉक किए गए होटल के कमरे

इस मामले में गांधी मैदान के थानेदार रंजीत वत्स ने अपने बयान पर FIR नंबर 399/21 दर्ज किया है। महिला सब इंस्पेक्टर अर्चना कुमारी सिन्हा को केस का इंवेस्टिगेशन ऑफिसर (IO) बनाया गया है। शुक्रवार को गांधी मैदान की पुलिस ने इस मामले में पकड़ी गई 7 लड़कियों और होटल मालिक पंकज, स्टाफ व कस्टमर्स समेत 9 लोगों को जेल भेज दिया है। इन सभी के ऊपर 3/4/5 अनैतिक देह व्यापार अधिनियम -1956 की धारा के तहत कार्रवाई की गई है।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here