स्कुल से ड्राप आउट बच्चों का परिहार प्रखंड में गृहवार सर्वेक्षण शुरू

0
183
Share

स्कुल से ड्राप आउट बच्चों का परिहार प्रखंड में गृहवार सर्वेक्षण शुरू , स्कूल से बाहर नहीं रहेंगे एक भी बच्चे
सरकारी स्कूलों से बाहर व शिक्षा से वंचित रह रहे बच्चों को अब शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने का काम शिक्षा विभाग द्वारा शुरू कर दिया गया है। इसको लेकर अब शिक्षकों के द्वारा गृहवार सर्वेक्षण भी किया जा रहा है। इस अभियान को अमलीजामा पहनाने के विधालय में हेल्प डेस्क व कोर कमिटी का गठन किया गया है, मल्हा टोल में कार्यरत शिक्षिका प्रियंका कुमारी ने गृहवार सर्वेक्षण करते हुए बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत स्कूल से बाहर के बच्चों की पहचान के लिए डोर-टू-डोर सर्वे कराया जा रहा है। सर्वेक्षण का उद्देश्य छह से 18 आयु वर्ग के विद्यालय से बाहर व क्षितिज बच्चों की पहचान करना व उनका उम्र सापेक्ष कक्षा में नामांकन करना है।

बीआरपी, एचएम आदि को इस संबंध में निर्देश दे दिया गया है। एक से 25 नवंबर तक सर्वेक्षण का कार्य होगा। सर्वेक्षण के लिए विभाग द्वारा 24 कालम का फार्मेट तैयार किया गया है। इसके लिए स्कूलों में प्रखंड स्तरीय कोर कमेटी व हेल्प डेस्क का गठन किया गया है। नि:शुल्क व अनिवार्य बाल शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2010 के अनुसार छह से 14 आयुवर्ग के बच्चों को शिक्षा के अधिकार प्राप्त है। इसके बाद भी कई बच्चे इस मौलिक अधिकार से वंचित रह जाते हैं। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के टास्क 60 के आलोक में विद्यालय से बाहर सभी बच्चों का सर्वेक्षण किया जाना है। खासकर इस बार सर्वेक्षण के कालम में दिव्यांग बच्चों की भी पहचान करना है। उसके बाद विद्यालय से बाहर के छह से 18 आयु वर्ग के सभी बच्चों की पहचान करना व उन्हें उम्र सापेक्ष कक्षा में नामांकन भी किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here