स्टेज पर मौजूद मंत्री समेत किसी ने भी नहीं लगाया मास्क, जनता ने भी गाइडलाइन का पालन नहीं किया

0
896
Share

गुरु पूर्णिमा के मौके पर औरंगाबाद में एक कार्यक्रम के दौरान कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ाई गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे बिहार सरकार के पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री मुकेश सहनी ने भी गाइडलाइन को दरकिनार कर दिया। मंच पर मंत्री के साथ-साथ सभी लोग बिना मास्क के नजर आए। सोशल डिस्टेंसिंग भी कहीं नहीं दिखा। वहीं, सामने सभा में बैठी जनता ने कोरोना गाइडलाइन को ताक पर रख दिया।

कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने भी कोरोना गाइडलाइन को ताक पर रखा।

कार्यक्रम में मौजूद लोगों ने भी कोरोना गाइडलाइन को ताक पर रखा।

मूर्ति अनावरण कार्यक्रम में पहुंचे थे सहनी

पशु एवं मत्स्य संसाधन मंत्री मुकेश सहनी औरंगाबाद जिले के बारुण पहुंचे थे। यहां सर्वेश्वरी समूह आश्रम के मैदान में महर्षि वेदव्यास के मूर्ति अनावरण का कार्यक्रम था। यहां पूरे कार्यक्रम के दौरान कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ती रहीं। मुकेश सहनी खुद ही मंच पर बिना मास्क के नजर आए। कार्यक्रम के दौरान उन्होंने सैकड़ों समर्थकों को संबोधित किया। सहनी ने बिहार सरकार की ओर से चलाए जा रहे विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी। इस दौरान मंच पर पूर्व विधायक वीरेंद्र कुमार सिंह, भाजपा नेता त्रिविक्रम नारायण सिंह और औरंगाबाद नगर परिषद के मुख्य पार्षद उदय गुप्ता मौजूद थे।

कार्यक्रम में फूलन देवी का जिक्र
फूलन देवी की मूर्तियों को लेकर चर्चा में आए मंत्री मुकेश सहनी ने औरंगाबाद में भी पूर्व सांसद फूलन देवी का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि 10 साल की उम्र से संघर्ष करके इस मुकाम पर पहुंची थीं। जनता ने उन्हें सांसद भी बनाया था। उनकी मूर्ति लगाकर निषाद समाज उनके प्रति सम्मान प्रदर्शित कर रहा है। उन्होंने यह भी कहा कि औरंगाबाद जिले में भी 10 दिनों के अंदर फूलन देवी की प्रतिमा स्थापित की जाएगी। जनता की सेवा के लिए 18-18 घंटों तक काम कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here